पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Sheour News Mp News Land Was Sanctioned For The Sports Ground With 90 Lakh Budget Construction Work Has Not Started Yet

90 लाख बजट के साथ मिली थी खेल मैदान की स्वीकृति जमीन आवंटित हुई, अब तक शुरू नहीं हुआ निर्माण कार्य

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
Advertisement
Advertisement
भास्कर संवाददाता | बड़ौदा/विजयपुर

बत्तीसा क्षेत्र में स्टेडियम नहीं होने के कारण खेल प्रतिभाएं भटकती रहती हैं। खेल मैदान नहीं होने से स्कूली मैदान और अन्य खाली जगहों पर खिलाड़ी अभ्यास करते नजर आते हैं। बत्तीसा क्षेत्र युवा प्रतिभाओं को निखारने के लिए और उन्हें खेल मैदान की सुविधा दिलाने के लिए साल 2015 में तत्कालीन मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद भी खेल मैदान नहीं बन सका है। उधर विजयपुर में भी खेल मैदान पूरी तरह से तैयार नहीं हो सका है। यहां खेल मैदान में झाड़ियां उग आईं हैं।

बड़ौदा तहसील मुख्यालय पर तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा बत्तीसा क्षेत्र के खिलाड़ियों के लिए स्टेडियम निर्माण कराए जाने की घोषणा की थी। इसके साथ ही चंद्रसागर मैदान की जमीन को खेल मैदान बनाने के लिए चिन्हित कर लिया गया। इसके साथ ही 72 लाख का एस्टीमेट बनाया गया था। लेकिन बाद में इसे रिवाइज कर 90 लाख कर दिया गया, जिसे अभी तक मंजूरी नहीं मिल सकी है। ऐसे में स्कूली मैदान और खाली पड़े प्लाटों पर नगर के खिलाड़ी अपना हुनर दिखाते नजर आते हैं। वहीं बड़ौदा क्षेत्र में कॉलेज की सुविधा नहीं होने से बाहरवीं पास करने वाले छात्रों को श्योपुर और अन्य क्षेत्रों में जाकर एडमिशन लेना पड़ता है। जिससे छात्रों की पढ़ाई का नुकसान तो होता ही है। आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को एडमिशन लेने में समस्या आती है। यहां खेल मैदान बनाए जाने के लिए खत लिखकर मांग की है। उधर खेल अधिकारी अरूण चौहान का कहना है कि खेल मैदान के लिए जमीन तो आवंटित कर ली गई है। लेकिन बजट नहीं मिलने से खेल मैदान बनाने की कवायद शुरू नहीं की जा सकी है।

चंद्रसागर तालाब पर यहां बनाया जाना है खेल मैदान।

जनप्रतिनिधि व अफसरों की अनदेखी के कारण विजयपुर में एक करोड़ की लागत से बने स्टेडियम में उग आईं झाड़ियां

विजयपुर में भी बीआरजीएफ योजना के अंतर्गत खेल व युवा खिलाड़ियों के विकास के लिए एक करोड़ की लागत से साल 2011 में मेला मैदान में सिद्ध बाबा की पहाड़ी के पास स्टेडियम तैयार कराया गया था। उस समय इसकी लागत में करीब 1 करोड़ से ज्यादा का खर्चा आया था। अफसरों व जनप्रतिनिधियों की उदासीनता के कारण न तो इसका आजतक कोई उद््घाटन हुआ है और न ही किसी सरकारी या फिर निजी संस्था द्वारा इसमें किसी भी प्रकार के कोई खेल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। वर्तमान में खेल मैदान में हरी दूब की जगह कटीले झाड़-झाड़ियां और गंदगी पसरी हुई है। जबकि स्टेडियम परिसर में बने इंडोर स्टेडियम और ड्रेसिंग रूम के हालात और भी ज्यादा खराब दिखाई देते हैं।

दांतरदा में अधर में लटका मिनी स्टेडियम

ग्रामीण क्षेत्र में खेल सुविधाएं विकसित करने के लिए चार साल पूर्व बीआरजीएफ योजना के अंतर्गत ही जिला प्रशासन द्वारा कराहल तहसील मुख्यालय और ग्राम दांतरदा में 50-50 लाख के स्टेडियम स्वीकृत किए और इनके प्रस्ताव भी बनाए, लेकिन दांतरदा में खेल मैदान के लिए जमीन तक चिन्हित नहीं की जा सकी है। जिससे यहां खिलाड़ी गलियों मे क्रिकेट खेलते हुए नजर आते हैं। वहीं कराहल में खेल मैदान बनाए जाने का काम शुरू कर दिया गया है। कराहल खेल मैदान जल्द शुरू कराए जाने के बात जनपद पंचायत के अधिकारियों द्वारा की जा रही है।

अफसर का नहीं उठा फोन

मामले में बात करने के लिए संयुक्त संचालक खेल विभाग के अधिकारी बालू यादव को उनके मोबाइल नंबर 9826726541पर दोपहर 3 बजकर 40 मिनट और 3 बजकर 50 मिनट पर दो बार कॉल किया गया लेकिन उनका मोबाइल रिसीव नहीं हो सका।

Advertisement

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज पिछले समय से आ रही कुछ पुरानी समस्याओं का निवारण होने से अपने आपको बहुत तनावमुक्त महसूस करेंगे। तथा नजदीकी रिश्तेदार व मित्रों के साथ सुखद समय व्यतीत होगा। घर के रखरखाव संबंधी योजनाओं पर भ...

और पढ़ें

Advertisement