शहर में 4 हजार उपभोक्ताओं के मीटर खराब, भेजे जा रहे एवरेज बिल

Sheopur News - शहर में कई महीने से 4 हजार से अधिक उपभोक्ता बिजली मीटर बदलवाने के लिए बिजली कंपनी के दफ्तरों के चक्कर काट रहे हैं।...

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 04:41 AM IST
Sheour News - mp news measures of 4 thousand consumers in the city average bills being sent
शहर में कई महीने से 4 हजार से अधिक उपभोक्ता बिजली मीटर बदलवाने के लिए बिजली कंपनी के दफ्तरों के चक्कर काट रहे हैं। अफसर हर बार स्टॉक न होने की बात कहकर टाल देते हैं। जब कोई उपभोक्ता दबाव बनाता है तो अफसर उसके यहां पुराना मीटर लगाकर अपना पल्ला झाड़ लेते हैं। वहीं जिले में 90 ट्रांसफार्मर खराब पड़े हैं।

शहर में वर्तमान में लगभग 16 हजार उपभोक्ता हैं। इनमें सिंगल व थ्री फेस के मिलाकर 4 हजार उपभोक्ताओं के मीटर खराब पड़े हुए हैं। नए मीटरों के आवेदन फीडर दफ्तरों में पेंडिंग हैं। शहर के बिजली कार्यालय पर रोजाना उपभोक्ता शिकायत करने पहुंच रहे हैं। उपभोक्ताओं की यह भी शिकायत है कि कंपनी ने मीटर बदलने के नाम पर पुराने मीटर लगा दिए जो अनियमित रीडिंग दिखाते हैं या कुछ दिन बाद ही बंद हो गए । बिजली कंपनी के अधिकारियों का कहना है कि हमने आधार पर मीटर मंगाते हैं। इसमें कई बार मीटरों की सप्लाई कम और समय पर नहीं हो पाती है। अफसरों ने इस मामले में डिवीजन एवं फीडर स्तर पर डिमांड के अनुसार मीटर उपलब्ध कराने की बात कही है।

शहर में बिजली कंपनी के दफ्तर पर लगा खराब बिजली मीटर का ढेर।

28 गांव में अवैध कनेक्शनों की भरमार, किसानों ने डीई से की शिकायत, बोले- अिभयान चलाकर कार्रवाई करें

बड़ौदा डीसी केंद्र से जुड़े रतोदन, मकड़ावदा और ललितपुरा फीडर पर राजीव गांधी और अटल ज्योति बिजली लाइन पर अवैध कनेक्शनों की भरमार है। इस कारण 28 गांव में आम उपभोक्ताओं को पर्याप्त बिजली नहीं मिल रही है। इस आशय की शिकायत ग्रामीणों ने बिजली अफसरों से की है। बताया गया है कि संबंधित अधिकारी- कर्मचारियों की मिलीभगत से इलाके में अवैध बिजली कनेक्शनों का जाल बिछा दिया है। ऐसे में बिजली उपभोक्ताओं पर असर पड़ रहा है। इसलिए अिभयान चलाकर कार्रवाई की जानी चाहिए।

खेती के लिए घरेलू बिजली का इस्तेमाल

ग्रामीणों का कहना है कि इलाके में कई खेतों में अवैध बिजली कनेक्शन एवं ट्रांसफार्मर लगाए गए हैं। खेती के लिए घरेलू बिजली का अवैध रूप से इस्तेमाल किया जा रहा है। कर्मचारी गांवों की बिजली काटकर कृषि लाइन पर सप्लाई जोड़ देते हैं। गांवों में कई घंटे अंधेरा छाया रहता है। आम उपभोक्ताओं पर कटौती की मार पड़ रही है।

90 ट्रांसफार्मर खराब, कई गांव में अंधेरा

बिजली कंपनी के अनुसार वर्तमान में जिलेभर में 90 ट्रांसफार्मर खराब और फुंके हुए हैं। महीनों से खराब ट्रांसफार्मर नहीं बदलने के कारण कई गांवों में लोग अंधेरे में है। राज्य सरकार ने ट्रांसफार्मर बदलने के निर्देश दिए हैं। लेकिन जिले में शासन के निर्देश उपभोक्ताओं को राहत नहीं दे पाए हैं। कंपनी द्वारा बकाया राशि जमा कराने के नाम पर महीनों से खराब ट्रांसफार्मर नहीं बदले जा रहे हैं। बिजली कंपनी द्वारा जिस गांव में 50 फीसदी उपभोक्ताओं ने बकाया बिजली के बिल जमा कराए हैं उन्हीं गांव में ट्रांसफर बदले हैं।

बकाया राशि के चलते नहीं बदले ट्रांसफार्मर


X
Sheour News - mp news measures of 4 thousand consumers in the city average bills being sent
COMMENT