• Hindi News
  • National
  • Sheour News Mp News Rs 70 Charged By Kiosk Operators Not Being Deposited In College

कॉलेज में जमा नहीं की जा रही फीस कियोस्क संचालक वसूल रहे 70 रुपए

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कॉलेज में ऑनलाइन एडमिशन के बाद पहले चरण में एडमिशन के प्रक्रिया शुरू हो गई है। सीट अलॉटमेंट के बाद छात्र फीस जमा करने के लिए अब कॉलेज पहुंचने लगे हैं। यहां फॉर्म की लिंक अपडेट कराने के बाद छात्रों की फीस कॉलेज में जमा नहीं की जा रही बल्कि छात्रों को फीस जमा करने के लिए कियोस्क सेंटरों पर जाना पड़ रहा है। कियोस्क संचालक छात्रों से फीस के अलावा 50 से 70 रुपए अतिरिक्त वसूल रहे हैं। छात्रों का कहना है कि फाॅर्म भरते समय भी कियोस्क संचालकों ने उनसे 100 रुपए तक वसूले थे। इसके बाद अब फीस जमा करने पर भी अतिरिक्त रुपए वसूले जा रहे हैं।

बता दें कि कॉलेजों में पहले चरण में स्नातक कक्षाओं में एडमिशन होने के बाद शुक्रवार से एडमिशन की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इसके लिए फीस एमपी ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से जमा होनी है। जब छात्र अपने फॉर्म की लिंक अपडेशन के लिए कॉलेज जाते हैं तो लिंक तो कॉलेज से ही अपडेट कर दी जाती है, लेकिन ऑनलाइन फीस जमा करने की व्यवस्था कॉलेज के अंदर नहीं रखी गई है। ऐसे में छात्रों को फीस जमा करने के लिए निजी कियोस्क सेंटर पर जाना पड़ रहा है, जहां छात्रों से फीस के अलावा 50 रुपए अतिरिक्त मांगे जा रहे हैं। यदि छात्र अतिरिक्त रुपए देने से मना करते हैं तो कियोस्क संचालक उनकी फीस जमा करने से इनकार कर देते हैं।

भास्कर सवाल| कॉलेज में लिंक अपडेट की जा रही तो फीस जमा क्यों नहीं हो सकती
छात्र चाहें तो स्वयं भी ऑनलाइन जमा कर सकते हैं अपनी फीस

छात्र-छात्राएं स्वयं भी अपनी फीस ऑनलाइन आसानी से जमा कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें ई-प्रवेश पोर्टल पर जाकर फीस जमा करने के ऑप्शन को क्लिक करना होता है जिसमें अलग-अलग विषयों की सूची खुल जाती है। उसके बाद छात्रों ने जिस विषय को चुना है। उस विषय पर क्लिक करते ही उसका फीस का ऑप्शन खुल जाता है और लिंक पर क्लिक कर उसे अपने बैंक खाते से जोड़ते हुए एप्लीकेशन नंबर को फिल करने से फीस को जमा किया जा सकता है।

छात्र धोखाधड़ी से डर रहे: छात्र ऑनलाइन भुगतान में धोखाधड़ी होने से डर रहे हैं, इसलिए खुद फीस जमा नहीं करते। ऐसे में उन्हें कियाेस्क सेंटर पर जाकर अतिरिक्त रुपए देने पड़ रहे हैं।

कियोस्क संचालक ने मुझसे 70 रुपए अधिक वसूल लिए

कॉलेज से फाॅर्म की लिंक अपडेट कराने के बाद कॉलेज के पास ही कियोस्क सेंटर पर फीस जमा करने के लिए गई थी। कियोस्क संचालक ने फीस भरने के साथ मुझसे 70 रुपए अतिरिक्त वसूल लिए। जब उससे निर्धारित फीस जमा करने की बात कही तो उसने फीस जमा करने से इंकार कर दिया। मेघा अवस्थी, छात्रा

कॉलेज में नहीं है फीस भरने की सुविधा, इसलिए परेशानी

कॉलेज में छात्रों के लिए फीस भरने की सुविधा नहीं है। ऐसे में गांव से आने वाले छात्र जानकारी के अभाव में परेशान हो रहे हैं। हमको ऑनलाइन प्रक्रिया से फीस भरने के बारे में बताया गया था लेकिन जानकारी के अभाव और प्रक्रिया कठिन होने की वजह से हमें भी कियोस्क सेंटर पर जाना पड़ रहा है। संजय सुमन, छात्र

कियोस्क संचालकों की शिकायत एमपी ऑनलाइन पर करूंगा

फीस को ऑनलाइन जमा किया जा रहा है। इसके लिए छात्रों को कियोस्क सेंटर पर जाना होता है। कियोस्क संचालक यदि छात्रों से पैसा वसूल रहे हैं तो यह गलत है। उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए। छात्र मेरे पास आकर शिकायत करेंगें तो मैं कियोस्क संचालक की एमपी ऑनलाइन में शिकायत करूंगा। डॉ. एसडी राठौर, प्राचार्य, शा. पीजी कॉलेज, श्योपुर

काॅलेज में शिक्षकाें से जानकारी लेते हुए छात्र।

कॉलेज प्रबंधन ने शुरू किए सुविधा काउंटर

ऑनलाइन फीस जमा करने की प्रक्रिया की जटिलता को देखते हुए कॉलेज प्रबंधन ने छात्र-छात्राओं की सुविधा के लिए सुविधा काउंटर बनाए हैं। विषयवार काउंटर पर संबंधित छात्र-छात्रा अपनी समस्या को लेकर पहुंच रहे हैं। इस काउंटर पर उस विषय के शिक्षक को बैठाया गया है जो कि छात्रों की समस्या को हल कर रहे हैं।

कॉलेज प्रबंधन चाहे तो कॉलेज में ही जमा की जा सकती है फीस

उच्च शिक्षा विभाग ने प्रदेशभर में मौजूद सरकारी कॉलेजों में एडमिशन लेने वाले छात्रों की फीस ऑनलाइन जमा कराने के आदेश वर्ष 2016 में जारी किए थे। इसके लिए ई-प्रवेश पोर्टल भी तैयार कराया गया है, जिसमें स्नातक और स्नातकोत्तर कोर्सों के लिए अलग-अलग ऑप्शन रखकर फीस जमा करने की प्रक्रिया की जा सकती है। ये फीस ऑनलाइन भुगतान के जरिए ही जमा होगी। जब भी कोई छात्र फीस जमा करने के लिए कॉलेज पहुंचता है तो उसे तुरंत ही एमपी ऑनलाइन के कियोस्क सेंटर भेज दिया जाता है। कियोस्क सेंटर संचालक निर्धारित फीस के ऊपर 100 से 150 रुपए तक वसूल रहे हैं, जबकि कॉलेज में लिंक अपडेट की जा रही है। यदि लिंक अपडेट हाे सकती है तो कॉलेज में फीस भी जमा की जा सकती है, लेकिन कॉलेज प्रबधंन इससे बच रहा है।

खबरें और भी हैं...