अब एनआरसी में कुपोषितों की निगरानी करेंगी सुपरवाइजर

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इस संंबंध में सीडीपीओ ने जारी किए आदेश

भास्कर संवाददाता| श्योपुर

अब जिला चिकित्सालय की एनआरसी में सेक्टर सुपरवाइजर और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी करेंगीं। शनिवार को यह आदेश सीडीपीओ देवेंद्र साहू ने जारी किए हैं। अब तक यह सामने आ रहा था कि भर्ती अतिकुपोषित बच्चों की मां एक-दो दिन के बाद चुपचाप एनआरसी छोड़कर जा रही थी, इसे देखते हुए कार्यकर्ता व सुपरवाइजर को निगरानी के एनआरसी में लगाया गया है।

एनआरसी में निरीक्षण करने के लिए शनिवार को सीडीपीओ देवेंद्र साहू पहुंचे और यहां कुपोषित बच्चों को दिए जा रहे डाइट चार्ट के बारे में जाना और भर्ती बच्चों की संख्या के बारे में जानकारी ली। यहां सेक्टर सुपरवाइजर और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की ड्यूटी लगाई गई है। साथ ही अधिकारियों का एनआरसी में आना जाना बढ़ गया है। बता दें कि एनआरसी में लगातार बच्चों की संख्या बढ़ रही है। कराहल, ढोढर, बड़ौदा, विजयपुर में लगातार कुपोषित बच्चे सामने आ रहे हैं। शनिवार को एनआरसी में भर्ती बच्चों की संख्या 56 बताई गई है। इसके साथ ही कराहल क्षेत्र के दो बच्चों को भी एनआरसी में भर्ती कराया गया। बताया गया है कि साल 2016 में लगातार कुपोषित बच्चों की संख्या बढ़ने पर भी एनआरसी में तीन आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई थी। ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि एनआरसी से इलाज पूरा होने से पहले अतिकुपोषित व परिजन भाग न सके, अब तक कई अतिकुपोषित बच्चों को लेकर उनके परिजन इलाज पूरा होने से पहले ही जा चुके है। ऐसे मामले रोकने के लिए विभाग ने अब यह कदम उठाया है।

खबरें और भी हैं...