अस्पताल के इमरजेंसी में छात्र का उपचार कराते परिजन।

Sheopur News - क्लास में बैठे कक्षा 4 के छात्र के ऊपर गिरा पंखा, चेहरे पर गंभीर चोट स्कूल संचालक बोले- तो क्या हो गया, हादसे तो इससे...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 09:20 AM IST
Sheour News - mp news the family members are given treatment in the hospital emergency
क्लास में बैठे कक्षा 4 के छात्र के ऊपर गिरा पंखा, चेहरे पर गंभीर चोट स्कूल संचालक बोले- तो क्या हो गया, हादसे तो इससे भी बड़े होते हैं


अस्पताल के इमरजेंसी में छात्र का उपचार कराते परिजन।

शहर के श्री गुरुवेश्वर कॉन्वेंट स्कूल की घटना

भास्कर संवाददाता | श्योपुर

शहर के श्री गुरुवेश्वर कॉन्वेंट स्कूल में शनिवार को कक्षा 4 के छात्र के ऊपर छत पर लगा पंखा गिर गया। पंखा गिरने से क्लास में बैठा छात्र घायल हाे गया। छात्र की नाक अाैर बायीं अांख की भाैंह कट गई। सूचना पर परिजन खुद लहूलुहान हालत में बच्चे को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। नाक व आंख के ऊपर भौंह पर 2-2 टांके लगाए गए हैं। गनीमत रही कि आंख को नुकसान नहीं पहुंचा। इस बीच स्कूल में पंखा गिरने की सूचना से घबराए कई अभिभावक अपने बच्चों के पास पहुंचे। डीईओ ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। उधर स्कूल संचालक का कहना है कि यह तो हादसे हैं, हो जाते हैं। स्कूल में पंखा गिर गया तो क्या हो गया, रोजाना बड़े-बड़े एक्सीडेंट होते हैं।

शहर के गुरुद्वारा क्षेत्र में संचालित श्री गुरुवेश्वर कॉन्वेंट स्कूल में लंच टाइम के दौरान क्लास में लगा पंखा गिर गया जिससे क्लास रूम के अंदर मौजूद कक्षा चार में पढ़ने वाला नीतेश पुत्र राजेश आर्य घायल हो गया। उसकी नाक और भौंह पर गंभीर चोट आ गई। स्कूल प्रबंधन ने लापरवाही बरतते हुए तत्काल बच्चे को अस्पताल पहुंचाना तक उचित नहीं समझा और हादसे के बाद बच्चे के परिजन को सूचना दी। परिजन के आने तक स्कूल में ही लहूलुहान हालत में छात्र बैठा रहा। जब परिजन स्कूल में पहुंचे, तब वे खून से लथपथ नीतेश को जिला अस्पताल लेकर पहुंचे, तब इलाज शुरू हुआ। वहीं अन्य बच्चों के अभिभावकों का कहना है कि शुक्र है कि लंच होने के बाद पंखा गिरा। लंच के कारण कुछ देर पहले ही अधिकांश बच्चे बाहर चले गए थे अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था।

हादसे के बाद 15 मिनट लहूलुहान स्कूल में ही बैठा रहा छात्र, माता-पिता आए, तब ले गए अस्पताल

15 मिनट तक सिर्फ परिजन का इंतजार किया, स्कूल में लहूलुहान बैठा रहा घायल छात्र

स्कूल में पंखा गिरने का हादसा दोपहर करीब एक बजे हुआ था। जिसकी सूचना घायल नीतेश के पिता राजेश को फोन पर दी गई। शहर के वार्ड नंबर 22 से घबराए हुए माता पिता 15 मिनट में ही स्कूल पहुंच गए। जहां नीतेश के चेहरे पर दो जगह खून बह रहा था। स्कूल प्रबंधन ने उसे तत्काल अस्पताल ले जाने के बजाय परिजन के आने का इंतजार किया। बाद में माता-पिता ही नीतेश को लेकर जिला अस्पताल में लेकर पहुंचे।

स्कूल संचालक बोले- घटनाएं होती रहती हैं, वैसे में भाजपा नेता का भाई हूं

घटना के बाद जब स्कूल संचालक हरिओम गौड़ से भास्कर ने चर्चा की तो उनका कहना था कि घटनाएं होती रहती हैं। पंखे की कील टूटने से घटना हो गई। इसमें स्कूल प्रबंधन ने कोई गुनाह नहीं कर दिया। वैसे मैं भाजपा नेता बिहारी साेलंकी का भाई हूं। वे नपाध्यक्ष का चुनाव भी लड़े थे। मैं खुद अभी कोटा में हूं, लेकिन स्टाफ के लोग भी बच्चे के साथ अस्पताल गए थे।

मैं स्कूल में जाकर करूंगा कार्रवाई


X
Sheour News - mp news the family members are given treatment in the hospital emergency
COMMENT