मध्याह्न भोजन बनाने वाली महिलाओं ने की मानदेय बढ़ाने की मांग

Sheopur News - सरकारी स्कूल और छात्रावासों में पोषणहार बनाने वाली महिलाओं को अल्प मानदेय दिया जा रहा है। ऐसे में उन्हें आर्थिक...

Feb 15, 2020, 09:25 AM IST

सरकारी स्कूल और छात्रावासों में पोषणहार बनाने वाली महिलाओं को अल्प मानदेय दिया जा रहा है। ऐसे में उन्हें आर्थिक परेशानी उठानी पड़ रही है। सरकारी स्कूलों में मिड डे मील योजना के तहत प्रतिदिन बच्चों को मीनू के अनुसार अलग-अलग खाना दिया जाता है। स्कूल और छात्रावासों में भोजन बनाने के लिए महिलाएं लगा रखी हैं। महिला रसोइया ने बताया कि उन्हें सिर्फ डेढ़ हजार रुपए मासिक मानदेय दिया जा रहा है। महंगाई के दौर में मिल रहे इतने कम मानदेय से परिवार का गुजारा करने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यदि किसी माह 15 दिन से कम कार्य दिवस हुए तो महज 500 रुपए का ही भुगतान किया जाता है। पोषाहार बनाने वाली महिलाओं ने सरकार से मानदेय बढ़ाने की मांग की है।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना