--Advertisement--

झंडा पूजकर रवाना की देवनारायण की पदयात्रा

शहर के मेन बाजार से गुजरती भगवान देवनारायण की पदयात्रा में शामिल श्रद्धालु। गुर्जर समाज की अाठवीं पदयात्रा का 14...

Danik Bhaskar | Sep 11, 2018, 05:05 AM IST
शहर के मेन बाजार से गुजरती भगवान देवनारायण की पदयात्रा में शामिल श्रद्धालु।

गुर्जर समाज की अाठवीं पदयात्रा का 14 सितंबर काे देवनारायण धाम पर हाेगा समापन

भास्कर संवाददाता. श्योपुर

गुर्जर समाज के आराध्य देव भगवान देवनारायण की 8 वीं पदयात्रा सोमवार को शहर के टोड़ी गणेश मंदिर में पूजा अर्चना के साथ प्रारंभ हुई। इस अवसर पर देवरी के संत रामदास महाराज और देवनारायण मंदिर के पुजारी गोकुलदास ने झंडा पूजकर पदयात्रा को रवाना किया। यह झंडा पदयात्रा में सबसे आगे चलेगा।

शहर के मुख्य मार्ग से गुजरे पदयात्रियों का लोगों ने जगह जगह फूल मालाएं पहनाकर स्वागत किया। शहर के गांधी पार्क पर क्षेत्रीय विधायक दुर्गालाल विजय ने भगवान देवनारायण की आरती उतारी और पदयात्रा आयोजन समिति के पदाधिकारियों को फूल माला पहनाकर विदा किया। जयस्तंभ चौक पर जिला कांग्रेस कमेटी की ओर से शर्बत पिलाया गया। इस अवसर पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक बृजराज सिंह चौहान ने समिति के संस्थापक देवीशंकर गुर्जर , अध्यक्ष हनुमान गुर्जर , पथिक सेना के संभागीय अध्यक्ष लेखराज गुर्जर , अरविंद कंसाना,को साफ बांधकर सम्मानित किया। श्योपुर से रायपुरा, सोईंकलां, बगडुवा, भोगिका, दांतरदा, सामरसा से शाम को राजस्थान सीमा में प्रवेश कर पदयात्रियों ने पेट्रोल पंप पर रात्रि विश्राम किया। पदयात्रा समिति के अध्यक्ष हनुमान गुर्जर ने बताया कि श्योपुर करीब 250 किलोमीटर लंबी दूरी पैदल तय करते हुए यह पदयात्री 14 सितंबर को निवाई जिले में जोधपुरिया स्थित भगवान देवनारायण धाम पहुंचकर मंदिर पर झंडा चढ़ाने के साथ पदयात्रा का समापन करेंगे।

7 हनुमान से 15 को शुरू होगी राम टेकरी की झंडा यात्रा

जैनी और मानपुर बीच स्थित सात हनुमान मंदिर से सबलगढ़ के राम टेकरी मंदिर के लिए पहली झंडा यात्रा 15 सितंबर को प्रारंभ होगी। मंदिर के महंत मोहनदास महाराज ने बताया कि यह झंडा यात्रा सुबह 8बजे पूजा अर्चना के साथ रवाना होगी। सात हनुमान मंदिर से यह झंडा यात्रा ढोढर, ओछापुरा, श्यामपुर, वीरपुर, टैंटरा होते हुए सबलगढ़ पहुंचेगी। जहां क्षेत्र की खुशहाली के लिए रामटेकरी मंदिर पर झंडा चढ़ाया जाएगा।