--Advertisement--

विवेकानंद ने भारत की आत्मा किसे कहा, बच्चे बोले-धर्म

स्वामी विवेकानंद ने भारत की आत्मा किसे कहा,बच्चे बोले धर्म को,रामकृष्ण मिशन की स्थापना कब हुई,जवाब मिला 1897 में,यह वह...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 04:05 AM IST
स्वामी विवेकानंद ने भारत की आत्मा किसे कहा,बच्चे बोले धर्म को,रामकृष्ण मिशन की स्थापना कब हुई,जवाब मिला 1897 में,यह वह प्रश्न थे जिन्हें राष्ट्रसेविका समिति द्वारा मंगलम में आयोजित कार्यक्रम के दौरान पूछा गया जिनका जवाब स्कूली छात्र छात्राओं की टीम द्वारा दिया गया और संस्था द्वारा विजेता प्रतिभागियों को सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि की आसंदी से बोलते हुए रिटायर्ड डीन सुरेश शर्मा ने कहा कि स्वामी विवेकानंद के आदर्शों पर चलकर ही हम अपने जीवन को महान बना सकते है। इसलिए वर्तमान में उनके जीवन के प्रसंग हमारे लिए कारगर साबित हो सकते है। शहर के मंगलम भवन में स्वामी विवेकानंद के जीवन दर्शन पर आयोजित इस कार्यक्रम में सबसे पहले स्नेह सिंघल ने एक विवेकानंद की भक्ति का गीत प्रस्तुत किया जिसे सभी ने सराहा। इसके बाद स्कूली छात्रा पिंकी द्वारा मातृवंदना गीत की प्रस्तुति दी गई। कार्यक्रम का संचालन कर रही संगम अग्रवाल ने जानकारी देते हुए विवेकानंद के जीवन दर्शन पर प्रश्नमंच के लिए अंजलि जैन और अमित दुबे को बुलाया जिन्होंने बच्चों से कई प्रश्न पूछे। अंजलि ने बच्चों से पूछा कि विवेकानंद की पूर्ण संसार की मनीषा की क्या चाह रही है,इस कठिन प्रश्न का जवाब भी बच्चों ने उत्साह से देते हुए कहा कि सृष्टि के आध्यात्मिक एकत्व का शाश्वत महान विचार जिसे सुनकर हॉल में तालियां बजी। अमित दुबे ने पूछा कि शिकागो धर्म सम्मेलन कब हुआ,जवाब आया 1893 में इस तरह से कई प्रश्न प्रतियोगिता में पूछा गए जिनका जवाब बच्चों ने दिए अंत में विजेता टीमों का चयन हुआ जिन्हें पुरस्कार दिए गए।

राष्ट्रसेविका समिति ने मंगलम में किया कार्यक्रम का आयोजन, विजेताओं को दिए गए पुरस्कार

यह बने पुरस्कार के हकदार

इस प्रतियोगिता के दौरान जिले के 7 विद्यालयों ने भागीदारी की जिसमें से 3 विद्यालयों की टीमों ने प्रथम,द्वितीय और तृतीय पुरस्कार मिले।

प्रथम - गुरुनानक स्कूल

द्वितीय - सरस्वती शिशु मंदिर

तृतीय - मॉडल स्कूल रहा,जिन्हें पारितोषक देकर सम्मानित किया।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..