• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Shivpuri
  • बच्चों के माथे पर तिलक लगाकर होगा स्वागत, 15 अप्रैल को मिलेंगी साइकिलें
--Advertisement--

बच्चों के माथे पर तिलक लगाकर होगा स्वागत, 15 अप्रैल को मिलेंगी साइकिलें

पहली बार राज्य शिक्षा विभाग के निर्देश पर 2 अप्रैल से शैक्षणिक सत्र शुरु होगा। अब तक यह सत्र जुलाई से शुरु होता आ...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 04:45 AM IST
पहली बार राज्य शिक्षा विभाग के निर्देश पर 2 अप्रैल से शैक्षणिक सत्र शुरु होगा। अब तक यह सत्र जुलाई से शुरु होता आ रहा था जो अब सोमवार से शुरु होगा जिसमें बच्चों को न केवल तिलक लगाकर उनका स्वागत किया जाएगा वरन बालसभा और जागरूकता के कार्यक्रम भी स्कूलों में आयोजित होंगे। खास बात यह है कि जिन विद्यार्थियों को साइकिल दिसंबर माह के अंत तक मिल पाती थीं उन बच्चों को साइकिल भी अब 15 अप्रैल तक मिल जाएगी। इसके निर्देश शिक्षा विभाग ने जारी किए है।

राज्य शिक्षा केंद्र से जो दिशा निर्देश जारी किए गए है उनमें 2 अप्रैल को शाला प्रबंधन समिति की बैठक के साथ साथ विशेष बाल सभाएं, छात्रों के नामांकन,छात्रों की उपस्थिति, उपलब्धि स्तर, इंट्रेस्ट टेस्ट, एप्टीट्यूट टेस्ट का आयोजन किया जाएगा। इसी के साथ एम शिक्षा मित्र एप से प्राचार्य,प्रभारी प्राचार्य,प्रधानाध्यापक,स्कूल प्रभारी द्वारा स्टाफ और शिक्षकों की उपस्थिति दर्ज कराई जाएगी ताकि नियमित लोगों की ट्रेकिंग हो सके। 2 अप्रैल को ही सभी शालाओं में एस एम सी की बैठक आयोजित होंगी जिसमें बच्चों के साथ उनके माता-पिता को भी आमंत्रित करेंगे ताकि बच्चों के सामने ही अभिभावकों से उनके सर्वांगीण विकास पर विस्तार से चर्चा हो सके।

बालसभा में बच्चे सुनाएंगे गीत, कविता, कहानी : इस दौरान सोमवार को ही बालसभा का आयोजन है बाल सभा में पालक कहानी, गीत, आदि सुनाएंगे।साथ ही बच्चों द्वारा की गई कोई भी गतिविधि या चित्र कला आदि का रिकार्ड पोर्ट फोलियो में रख जाएगा ताकि शिक्षा विभाग के अधिकारियों की विजिट स्कूल में हो तो यह बताया जा सके कि प्रवेशोत्सव के दौरान किस तरह की गतिविधियों का आयोजन स्कूल में हुआ था।

नई पुस्तकें आने तक पुरानी किताबों से पढ़ेंगे बच्चे

स्कूलों में बच्चों की संख्या बढ़े इसलिए होगा पालक सम्मेलन

जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में जहां जहां हाट बाजार लगते है वहां वहां हाट बाजार के दिन पालक सम्मेलन होगा जिसमें 7 से 13 अप्रेल के मध्य सम्मेलन होगा।जिसमें विद्यार्थी के माता पिता दोनों आएंगे। और इस कार्यक्रम में मिल बांचे एवं प्रणाम कार्यशाला में शामिल विद्यार्थियों को शामिल किया जाएगा।

स्कूल छोड़कर बच्चा कहां गया यह भी दर्ज करना होगा

स्थानांतरण प्रमाण पत्र प्राप्त करने पहुंचने वाले बच्चों को उनका पूरा रिकार्ड रखा जाएगा और यह भी देखा जाएगा कि वह कहां प्रवेश ले रहे है इसकी प्रविष्टि समग्र आई डी के साथ रजिस्टर में दर्ज की जाएगी।पहले दिन बच्चों को बेग लेकर नहीं आना है।क्योंकि जॉय फुल गतिविधियां पहले दिन आयोजित होंगी। इसके साथ ही15 अप्रेल तक सभी विद्यार्थियों का प्रवेश और साइकिल वितरण सुनिश्चित करना होगा।

9 से 21 अप्रैल के बीच होगा एप्टीट्यूट टेस्ट

9 से 21 अप्रैल में एप्टीट्यूट टेस्ट का आयोजन होगा और फिर उसी दिन परिणाम घोषित होगा जिसे माता पिता को बताया जाएगा ताकि बच्चों को बताया जा सके कि उनके बच्चों की अभिरुचि को अभिभावकों को बताया जा सके। इस परीक्षा में 4तरह की परीक्षाओं में दक्षता का आकलन,भाषा,गणित,तार्किक,स्थान विषयक परीक्षा होगी जिसमें 80 मिनिट का टेस्ट समय लगेगा।

यह भी होगा






घर घर जाकर बच्चों का सर्वे होगा जो 23 से 30 तक किया जाएगा।


रेडियो पर 30 मिनट की जॉय फुल लर्निंग

2 अप्रैल को रेडियो पर जॉय फुल लर्निंग के बारे में बताया जाएगा जिसे सभी शिक्षक अनिवार्य रुप से सुनेंगे और फिर बच्चों को यह गतिविधियां सिखाएंगे। आकाशवाणी प्रसारण के लिए सोमवार 2अप्रेल को समय प्रातः 11.30 से 12बजे तक फोन इन कार्यक्रम होगा जिसे टोल फ्री नंबर 18002330040 और आकाशवाणी केन्द्र 0755-2660902,2660903 पर संपर्क कर शंका का समाधान पाया जा सकेगा।

आज से होगा प्रवेशोत्सव