पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • Shivpuri News Mp News Coriander Boeka 450 Lakh Rupees In One And A Half Bigha Land Earned Profits

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

डेढ़ बीघा जमीन में धनिया बोकर 4.50 लाख रु. का कमाया मुनाफा

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
समसपुर गांव की धनियां श्योपुर से ग्वालियर तक की मंडी में बढ़ा रही है महक, 80 से 100 रुपए प्रति किलों के मिल रहे हैं भाव

भास्कर संवाददाता|पोहरी

तहसील के लगभग 100 गांवों में अल्पवर्षा के कारण किसानों के ट्यूबवेल में हुए कम पानी के कारण रबी की फसल का उत्पाद कम हो पा रहा है। इसके चलते एक किसान ने खरीफ व रबी की फसल से रहे नुकसान से परेशान होकर ग्राम समसपुर के किसान जगन्नाथ पुत्र रतनलाल धाकड़ ने अपनी सूझबूझ से धनियां खेती की, जो उनके लिए डूबती नैया को किनारे लगाने वाली साबित हुई है। किसानों का कहना है कि अब उन्होंने खरीफ के मौसम में बारिश के पानी से होने वाली अन्य फसलों की अपेक्षा इन नकदी फसलों की खेती करने का मन बनाया है। यही वजह है कि वह कम पानी और लागत में ज्यादा लाभ देने वाले धनिया जैसी फसल की खेती में ज्यादा रुचि ले रहे हैं। इतना ही नहीं समसपुर गांव का धनियां श्योपुर से ग्वालियर मंडी में महक बढ़ा रहा है। खासबात ये है कि इस सीजन में हरे धनियां के 80 से 100 रुपए प्रतिकिलो भाव मिल रहे हैं।

एक दर्जन ग्रामीणों ने की धनियां की खेती शुरू

समसपुर गांव के जगन्नाथ धाकड़ की माने तो उनकी धनियां की खेती से घर में आई संपन्नता को देख गांव के एक दर्जन से अधिक ग्रामीणों ने भी धनियां की खेती शुरू कर दी है। जिसमें धनियां की खेती से अच्छा मुनाफा लेने वाले गावं में जगन्नाथ पहले किसान हैं। उनके अच्छे मुनाफा देख गांव अन्य किसानों ने भी धनियां की खेती शुरू कर दी है। जिसमें अतर सिंह धाकड़, दौलत सिंह धाकड़, बुद्धू धाकड़, बाबू धाकड़ सहित अन्य किसान धनियां की खेती कर मेरी तरह मुनाफा कमा रहे है। किसान का कहना है कि मैं लगातार 12 साल से धनियां की खेती करता चला आ रहा हूं।

श्योपुर व ग्वालियर तक जा रही पोहरी की धनियां

धनियां की फसल उत्पादन करने वाले किसानों की मानें तो वे अच्छा भाव मिलने के कारण अपने धनियां को श्योपुर की मंडी के अलावा ग्वालियर मंडी बेचने के लिए जाते हैं जहां उन्हें 80 से 100 रुपए प्रति किलों के भाव मिल रहे हैं। धनियां के अच्छे मुनाफा से किसान अपनी अन्य परंपरागत खेती को छोड़कर इस खेती की ओर रुझान बढ़ा रहे हैं। वहीं उद्यानिकी विभाग के पास इसका रकबा तक मेंटेन नहीं है।

हरे धनियां के प्रति बड़ा किसानों को रुझान

तहसील क्षेत्र के किसान अब अपने फायदे की खेती में ज्यादा रुचि ले रहे हैं। ज्यादा लागत एवं पानी की आवश्यकता वाली फसल की अपेक्षा किसानों ने हरे धनियां की खेती का रुझान बड़ा है, जिससे उन्हें मुनाफा भी अच्छा हो रहा है। एके राजपूत, सहायक संचालक उद्यानिकी विभाग शिवपुरी

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी भी लक्ष्य को अपने परिश्रम द्वारा हासिल करने में सक्षम रहेंगे। तथा ऊर्जा और आत्मविश्वास से परिपूर्ण दिन व्यतीत होगा। किसी शुभचिंतक का आशीर्वाद तथा शुभकामनाएं आपके लिए वरदान साबित होंगी। ...

    और पढ़ें