पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

किसी से हाथ न मिलाएं, नमस्ते कहें

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

निजी चिकित्सकों की जिम्मेदारी है कि वह अब हाथ मिलाना बंद कर दें। क्योंकि कोरोना वायरस से बचाव के लिए यह आवश्यक है। वह आपस में जिससे भी मिलें नमस्ते कहें। इसके साथ ही बाजार से मास्क खरीदें और मास्क पहनकर ही काम करें। यह बात सीएमएचओ डॉ. एएल शर्मा ने निजी प्रैक्टिशनरों से कही।

सीएमएचओ डॉ शर्मा ने आयोजन के दौरान सभी निजी चिकित्सकों से कहा कि कोई विदेश से आता है या जाता है या विदेशियों के संपर्क में आता है हमें ऐसे लोगों से सचेत रहने की आवश्यकता है। और इसकी कोई भी जानकारी मिले आप सीधे 104 पर सूचना दें । ताकि उस सूचना के माध्यम से आगे की कार्रवाई प्रारंभ हो सके।

जिस पैथी में पंजीयन उसी में करें उपचार

लायसेंस स्कूटर का है और आप कार चलाओगे तो दुर्घटना घटित होगी ही। इसलिए जिस पैथी में जिस डॉक्टर ने अपना पंजीयन कराया है उसी पैथी में इलाज करना बेहतर है।यह आप अच्छी तरह से जान लें। यह बात प्राइवेट मेडिकल प्रेक्टिशनर एसोसिएशन के विष्णु मंदिर परिसर में आयोजित कार्यक्रम के दौरान पीएमपीए के प्रदेश अध्यक्ष डॉ एन एस राजपूत ने कही।

उन्हाने कहा कि आप ने जो पढाई की है उसी पैथी में अपना पंजीयन कराएं। क्षमता उपचार की आपकी जितनी है उतना ही उपचार मरीज को दें। यदि आप क्षमता से अधिक गंभीर बीमारियों का दूसरी पैथी से इलाज करेंगे तो मरीज की जान को खतरा है ही। इसलिए गलत उपचार से बचें और वश की नहीं है तो फिर आप मरीज को उपचार के लिए सीनियर को रेफर करें। हम प्राथमिक स्तर का इलाज देने के अधिकृत हैं,प्राथमिक उपचार ही करें। जहां तक किसी मरीज के साथ कोई गंभीर स्थिति हो जाती है तो उस एक निजी चिकित्सक का खामियाजा पूरे निजी चिकित्सकों को भुगतना होता है। जांच दल आकर उस डॉक्टर की जांच तो करते हैं लेकिन वह भाग जाता है और कार्रवाई की चपेट में पूरे निजी चिकित्सक आते हैं। हालांकि मेरे अध्यक्ष रहते हुए किसी का बाल भी बांका नहीं हुआ।

कोई डर नहीं, सिर्फ एहतियात बरतें: {सफाई का विशेष ध्यान रखें। {अपने हाथों को थोडी-थोडी देर में साबुन से ठीक तरह से धोते रहें। {छींकते समय मुंह व नाक पर नरम साफ कपड़ा रखें। { छींकने के बाद बिना हाथ धोएं और हाथों को आंखों या चेहरे पर न फेरे। { सर्दी खांसी,बुखार जैसे लक्षणों से पीड़ित व्यक्ति से दूरी बनाकर मिलें। {लोगों से हाथ मिलाने, गले मिलने से बचें। { सर्दी बुखार, खांसी हो तो लापरवाही न बरतें डॉक्टर को दिखाएं। {गंदे हाथ से आंख ,नाक,मुंह न छुएं। {भीड़ व नमी वाले क्षेत्रों में जाने से बचें।
खबरें और भी हैं...