बारिश से गिरा पारा, खेताें में रखी फसल खराब होने का डर, खरीद केंद्रों पर गेहूं भीगने का खतरा

Shivpuri News - तेज गर्मी के दौर के बीच सोमवार की शाम दक्षिण से घटाएं उठने के साथ चली तेज आंधी से एकाएक मौसम बदल गया है। आंधी के बाद...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 09:15 AM IST
Shivpuri News - mp news due to the drop in rain fear of deteriorating crops kept in the fields danger of wheat soaking on procurement centers
तेज गर्मी के दौर के बीच सोमवार की शाम दक्षिण से घटाएं उठने के साथ चली तेज आंधी से एकाएक मौसम बदल गया है। आंधी के बाद शाम और रात में हल्की बूंदाबांदी होती रही। इसके बाद सुबह से दोपहर तक फिर से बूंदाबांदी होती रही और फिर मंगलवार रात 8 बजे रिमझिम बारिश हो गई जिससे किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें नजर आईं। खेतों में गेहूं की फसल कटने का सिलसिला जारी है। यदि तेज बारिश हुई तो पकी हुई फसल के दाने पानी पड़ने से भीग जाएंगे। जिससे किसानों को अपनी फसल खराब होने का डर सता रहा है। वहीं शासन द्वारा जिले में समर्थन मूल्य पर गेहूं, चना, सरसों व मसूर की खरीदी चल रही है। उपार्जन केंद्रों पर गेहूं खुले में रखा है। बरसात में गेहूं को भीगने से बचाने के लिए मौके पर कोई इंतजाम नहीं हैं। प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियाें द्वारा खरीदी शुरू कराने से पहले फसल को बारिश से भीगने से बचाने और चोरी रोकने के लिए कोई प्रबंध नहीं किए गए हैं। अधिकतर खरीदी केंद्र खुले में संचालित किए जा रहे हैं। किसानों से इन्हीं खरीदी केंद्रों पर समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदा जा रहा है।

दिन का पारा 8 डिग्री गिरकर 32 डिग्री और रात का पारा 9 डिग्री गिरकर 15 पर पहुंचा

शिवपुरी शहर में शाम को 8 बजे हुई अचानक बारिश।

दिन में 8 और रात का 9 डिग्री गिरा पारा

सोमवार की शाम 4 बजे से अचानक मौसम बदल जाने के बाद करीब 24 घंटे तक बादल छाए रहे। जिससे दिन के तापमान में 8 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई है। रात के तापमान में भी 9 डिग्री की गिरावट आई है। वहीं रात 8 बजे रिमझिम बारिश हो गई। इस तब्दीली की वजह से एक ही दिन में मौसम का मिजाज बिल्कुल बदल गया है। हालांकि लोगों को गर्मी से राहत मिली है, लेकिन किसान संकट में है।

83 हजार 800 क्विंटल गेहूं खरीदा, उठाव 20 हजार 970 क्विंटल हुआ

समर्थन मूल्य पर अभी तक 1 हजार 337 किसानों से 83 हजार800 क्विंटल गेहूं खरीदा जा चुका है। खरीदी केंद्रों से उठाव 20 हजार 970 क्विंटल हुआ है। यानी 62 हजार क्विंटल गेहूं सोसायटियों के पास रखा हुआ है। वहीं 25 किसानों से 495 क्विंटल चना और 10 किसानसों से 210 क्विंटल सरसों भी खरीदी जा चुकी है। हालांकि मसूर एक भी किसान से नहीं खरीदी गई है।

मौसम का मिजाज: गरज-चमके साथ बौछारें और धूल भरी आंधी की चेतावनी

मौसम केंद्र भोपाल द्वारा 17 अप्रैल की सुबह तक मौसम के पूर्वमानुमान की जानकारी दी गई है। आने वाले 24 घंटे में ग्वालियर संभाग में कुछ स्थानों पर गरज चमक के साथ बौछारें और धूल भरी आंधी चलने की बात कही गई है। इस वजह से तापमान में भी गिरावट आएगी। बता दें कि सोमवार को दिन का तापमान 40 डिग्री और रात का 24 डिग्री था। मौसम में तब्दील के बाद मंगलवार को दिन का तापमान 32 डिग्री और रात का 15 डिग्री दर्ज किया गया है।

गेहूं भीगने से बचाने सोसायटियों ने तिरपाल तक नहीं खरीदीं

शहर से 15 किमी दूर कोटा भगोरा उपार्जन केंद्र पर सोसायटी पर समर्थन मूल्य पर किसानों से गेहूं खरीदा जा रहा है। यहां कुछ गेहूं की बोरियां टीनशेड के अंदर रखीं हैं और अधिकांश गेहूं खुले में पड़ा है। हल्की बूंदाबांदी में गेहूं भीगने लगा। मौके पर थोड़ी से तिरपाल रखी मिली। यानी गेहूं भीगने से बचाने कोई इंतजाम नहीं है। इसी तरह बामौरकला कस्बे में तीन सोसायटियां मंडी प्रांगण में खरीदी का काम कर रहीं हैं। एक सोसायटी का गेहूं चबूतरे पर खुले में रखा हुआ है। बारिश हुई तो सारा गेहूं भीग जाएगा। वहीं बदरवास में छह सोसायटियों द्वारा गेहूं की उपार्जन किया जा रहा है। ज्यादातर सोसायटियों के पास गेहूं भीगने से बचाने के इंतजाम मौके पर नहीं किए गए हैं। बता दें कि अधिकारियों ने गेहूं भीगने से बचाने तिरपाल खरीदने को कहा है। इसके बाद भी सोसायटियाें ने तिरपाल नहीं खरीदी हैं।

सोसायटियाें को तिरपाल खरीदने को कहा है


X
Shivpuri News - mp news due to the drop in rain fear of deteriorating crops kept in the fields danger of wheat soaking on procurement centers
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना