बेटी को गहने और दामाद को सूटकेस देकर सास-ससुर बोले- हमारी बेटी को खुश रखना

Shivpuri News - बेटी को गहने से भरी डिब्बी और दामाद को सूटकेस देकर सास-ससुर फैमिली कोर्ट में बोले,हमारी बेटी को खुशहाल रखना,आप अब...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 09:25 AM IST
Shivpuri News - mp news give the daughter a suitcase to the ornaments and son in law say father in law keep our daughter happy
बेटी को गहने से भरी डिब्बी और दामाद को सूटकेस देकर सास-ससुर फैमिली कोर्ट में बोले,हमारी बेटी को खुशहाल रखना,आप अब इसे अपने साथ घर ले जाओ।यह नजारा शनिवार को फैमिली कोर्ट में लगी नेशनल लोक अदालत में देखने को मिला। यही नहीं पति के शराब पीने की लत से परेशान एक अन्य प्रकरण में जब डीजे ने कहा कि शराब न पीने से पैसे भी बचेंगे और बीमारी से बचेंगे, प|ी भी तुम्हारे साथ घर चली जाएगी,अब शराब मत पीना,डीजे के इस सवाल पर शराबी पति ने शराब से हमेशा के लिए तौबा कर ली जिस पर उसकी प|ी ने खुश होकर पति के गले में वरमाला डाल दी।

टयूशन कर अपने परिवार का गुजारा करने वाले डबरा निवासी युवक की शादी अब से 3 साल पहले पोहरी निवासी युवती से हुई। युवक ने प|ी के परिवार और स्वयं के साथ गलत व्यवहार का आरोप लगाया और प|ी ने भी अपनी ठीक से केयर न करने का आरोप पति पर लगाया। इसके चलते दोनों के बीच दूरियां बढ़ीं और नौबत तलाक तक जा पहुंची। मामला न्यायालय में पहुंचा जहां युवक ने बताया कि उसके सास,ससुर ने बताया था कि युवती जॉब करने वाली है और इसीलिए उसने शादी के लिए हां कह दी। वह कोचिंग करके जैसे तैसे अपना खर्च चलाता है, लेकिन प|ी के जॉब करने की बात झूठी निकली,बस इसी बात को लेकर दोनों के बीच अनबन होने लगी और प|ी घर छोड़कर आ गई, जबकि युवती का कहना था कि उसने घर नहीं छोड़ा वरन सावन पर घर आई तो यह लेने ही नहीं आए।इसके बादमामला न्यायालय पहुंचा जहां युवती और युवक ने एक दूसरे को गल्तियों के लिए सॉरी कहा और दोनों ने साथ रहने की सहमति देते हुए वरमाला एक दूसरे के गले में डाल दी। तभी थोड़ी देर बाद लड़की की मां और पिता फैमिली कोर्ट में पहुंचे और दोनों ने मिलकर सूटकेस दामाद को थमाया और एक डिब्बी में रखे जेवरात को वह बेटी को देकर बोली यह लो तुम्हारी अमानत,अब हमारी बेटी को खुशहाल रखना और इसके बाद वह दोनों पति-प|ि कोर्ट से डबरा के लिए रवाना हो गए।

लोक अदालत में पति-प|ी के समझौते के दौरान सूटकेस व अन्य सामान देते लड़की के माता-पिता।

युवक ने कहा- नहीं पीऊंगा शराब, प|ी बोली-अब संग चलेंगे

शहर के वीरा निवासी युवक और युवती का विवाह 8 साल पहले हुआ था। इनका एक बेटा भी है। लेकिन पति की अधिक शराब पीने की आदत के बाद घर में मचने वाले बवाल से परेशान युवती ने घर छोड़ दिया और वह ससुराल जाने राजी नहीं हुई। मामला फेमिली कोर्ट में पहुंचा जहां युवक को समझाइश देते हुए डीजे आर बी कुमार ने कहा कि शराब न पीने से पैसे भी बचेंगे और बीमारी से भी आप बचेंगे,प|ी भी तुम्हारे साथ घर जाने उस स्थिति में तैयार है जब आप शराब नहीं पिएंगे। डीजे के इस सवाल पर पति ने शराब से तौबा करने की बात कही और यह भी कहा कि उसने पिछले तीन महीने से शराब नहीं छुई जिससे उसका पैसा भी बचा। जब पति-प|ी दोनों साथ रहने राजी हुए तो वरमाला मंगाई गई और पति-प|ी दोनों ने एक दूसरे के गले में वरमाला डाल दी।

बेटे-बहू के झगडे देखने से अच्छा है घर में बेटियां जन्में...

शहर से जुड़े एक ऐसे ही मामले में युवक की शादी 5 साल पहले जिस युवती से हुई उसका झगड़ा पति से इस बात को लेकर होने लगा कि वह गुस्से में आकर उसकी मारपीट कर देते हैं। पति का कहना था कि यह हरदम बीमार बनी रहती है और मां को भी गाली दे देती है। ऐसे में यह गलती बार-बार होने से हम कैसे साथ रहें। यदि यह गलती सुधार ले तो हम साथ भी रहने को राजी हो जाएंगे।जबकि युवती बोली कि सास और पति का व्यवहार उसके प्रति ठीक नहीं।वह सास से अलग रहना चाहती है। जज बोले परिवार में और कौन है।ताे प|ी बोली कोई और नहीं। इस पर जज कुछ बोलते इसके पहले ही युवती की सास बिफर पड़ी और बोली बेटे बहू का रोज का नाटक देखकर परेशान हूं इससे तो बेहतर होता कि घर में बेटी का जन्म हुआ होता।कम से कम रोज की चकल्लस से तो बचती। इसके बाद जज ने पूछा कि आपके भी बच्चा है इस व्यवहार से इस पर क्या असर पड़ेगा। बोलो क्या तुम दोनों साथ रहने तैयार हो। युवती बोली एक बार इनसे यह कहलवाओ कि यह मारपीट न करें। इसके बाद युवक ने जब मारपीट न कहने का वचन दिया तो युवती साथ रहने राजी हो गई और उसने पति के गले में वरमाला डाल दी।

X
Shivpuri News - mp news give the daughter a suitcase to the ornaments and son in law say father in law keep our daughter happy
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना