मथुरा में प्रकट हुए भगवान, गोकुल में की बाल लीलाएं : केशवाचार्य

Shivpuri News - गोकुल में रहकर किया पूतना, शकरासुर, तृणावत जैसे राक्षसों का वध भास्कर संवाददाता|कोलारस भगवान श्री नारायण...

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 03:46 AM IST
Kolaras News - mp news god manifested in mathura in the gokul leela keshavacharya
गोकुल में रहकर किया पूतना, शकरासुर, तृणावत जैसे राक्षसों का वध

भास्कर संवाददाता|कोलारस

भगवान श्री नारायण श्रीकृष्ण रूप में मथुरा में प्रकट हुए और गोकुल में बाल लीलाएं की। दिव्य रूप में विराजमान हो प्रभू ने इस अवतार में अनेक अलौकिक व दिव्य क्रीड़ाएं कीं। यह प्रेरणादायी प्रवचन कोलारस के ग्राम कैलधार स्थित कपिल मुनि आश्रम पर व्यास पीठ पर विराजमानं कथा वाचक केशवाचार्य महाराज ने भागवत कथा के दौरान दिए। उन्होंने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण ने चार वर्ष गोकुल में रहकर पूतना, शकरासुर, तृणावर्त आदि राक्षसों का बध किया। सात वर्ष प्रभू बृंदावन में रहे जहां कालियानाग का मर्दन करके जमुना जल को पवित्र किया। उन्होंने कहा कि इंद्र ने क्रोधित होकर पूरे बृज को डुबाने का प्रयास किया तब भगवान ने अपनी कनिष्का अंगुली पर गोवर्धन पर्वत उठाकर अपने भक्तों की रक्षा की और गिरधारी नाम पाया। कथा समापन पर गोवर्धन लीला की दिव्य झांकी प्रस्तुत की गई।

महाराज केशवाचार्य की कथा व संगीत मंडली के दिलकश लोकप्रिय गीतों व भजनों की प्रस्तुतियों के दौरान सैकड़ों श्रोता सुरों के संग-संग बहते रहे। स्वामी जी व संगीत मंडली की प्रस्तुतियों ने देर शाम तक लोगों को मंत्रमुग्ध किए रखा। इस दौरान कई लोग मस्ती में झूमते व आंख बंद किए सुर और संगीत की गहराई में गोते लगाते हुए नजर आए।

X
Kolaras News - mp news god manifested in mathura in the gokul leela keshavacharya
COMMENT