पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Shivpuri News Mp News Instead Of Going Home From Exams He Went Around On The Forelane Bruised The Head Of The Truck The Only Brother Of Four Sisters Died On The Spot

परीक्षा देकर घर जाने के बजाय फोरलेन पर घूमने चले गए, ट्रक के पहिए से सिर कुचला, चार बहनों में इकलौते भाई की मौके पर मौत

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

शारदा होटल के सामने बीच सड़क पर हुआ हादसा, पीछे बैठी छात्रा घायल, अस्पताल में भर्ती

शहर के फोरलेन बायपास पर शनिवार की दोपहर स्कूटर सवार छात्र को ट्रक ने कुचल दिया। सिर पर पहिया निकलने से छात्र की माैके पर ही मौत हो गई। चार बहनों में मृतक छात्र इकलौता भाई था। वहीं हादसे में स्कूटर पर पीछे बैठी सहपाठी छात्रा भी घायल हो गई। उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल शिवपुरी में भर्ती कराया गया है। मृतक छात्र अपने अन्य तीन अन्य सहपाठियों के साथ गणेशा ब्लेस्ड पब्लिक स्कूल में कक्षा 11वीं की परीक्षा देकर घर जाने की बजाय फोरलेन बायपास पर घूमने चले गए थे।

गणेशा ब्लेस्ड पब्लिक स्कूल में कक्षा 11वीं के छात्र आलोक (17) पुत्र घनश्याम वर्मा निवासी आदर्श नगर कॉलोनी शिवपुरी की फोरलेन बायपास पर हादसे में जान चली गई है। जबकि सहपाठी छात्रा अंजू जैन पुत्र संजीव जैन निवासी काली माता मंदिर के पास शिवपुरी घायल हो गई हैं। दूसरे स्कूटर पर सवार कक्षा 11वीं के छात्र ध्रुव पुत्र यशवंत गुप्ता और प्रियंका पुत्री विनोद गुप्ता निवासी कृष्णपुरम कॉलोनी शिवपुरी घटना के चश्मदीद हैं। ध्रुव ने बताया कि स्कूटर आलोक चला रहा था और पीछे अंजू जैन बैठी थी। ओवरटेक करते समय ट्रक से टकराकर आलोक पहिए के नीचे आ गया और अंजू दूसरी तरफ जाकर गिरी। पहिए के नीचे आने से सिर कुचल गया और दूसरी तरफ गिरी अंजू जैन को चोट लगने से घायल हो गई। घटना दोपहर करीब 12.30 बजे की बताई जा रही है। सूचना पर परिजन और पुलिस मौके पर पहुंच गई और घायल को एंबुलेंस से जिला अस्पताल ले आए।

कोटा में कोचिंग कर रहा था, परीक्षा देने शिवपुरी आया था

घटना के वक्त पता चला कि आलोक अपने दोस्त ध्रुव के साथ कोटा में इंजीनियरिंग की कोचिंग कर रहा था। कक्षा 11वीं की परीक्षा देने के लिए शिवपुरी लौटकर आए। दोपहर करीब 12 बजे परीक्षा समाप्त होने के बाद शहर में आने की जगह फोरलेन बायपास पर निकल आए।


स्कूल को लिखित निर्देश के बाद भी दो पहिया से स्कूल जा रहे छात्र, हेलमेट की भी अनदेखी

ट्रैफिक थाना प्रभारी रणवीर सिंह यादव ने बताया कि गणेशा ब्लेस्ड स्कूल सहित अन्य सभी स्कूलों को लिखित निर्देश जारी कर चुके हैं। स्कूलों में जाकर ट्रैफिक नियम और पर्चे भी बटवा दिए हैं। लेकिन फिर भी माता-पिता अपने बच्चों को स्कूटर और बाइक से स्कूल भेज रहे हैं। स्कूल प्रबंधन भी छात्रों को नहीं टोक रहे। यहां तक कि बाइक व स्कूटर चलाते वक्त हेलमेट भी नहीं पहनते। यदि हेलमेट पहना होेता तो छात्र आलोक की जान बच सकती थी।

स्मृति शेष: बहनों के साथ आलोक का चित्र।

गुस्से में बहन ने एसआई का मोबाइल तोड़ा

गीतांजलि, मीनाक्षी, ज्योति और पल्लवी चार बहनों में आलोक सबसे छोटा है। घटना के वक्त पिता घनश्याम वर्मा बोर्ड परीक्षा में ड्यूटी दे रहे थे। सूचना मिलते ही जिला अस्पताल पहुंचे और बेटे के शव का पीएम कराया। वहीं घटना के बाद बहन पल्लवी से भाई की मौत की बात छिपाई गई। अपने भाई से मिलने के लिए वह आपा खो बैठी और सिटी कोतवाली में एक एसआई का मोबाइल छीनकर जमीन पर पटक दिया। जिससे मोबाइल टूट गया।
खबरें और भी हैं...