• Hindi News
  • Mp
  • Shivpuri
  • Shivpuri News mp news policemen watch us run such buses like they will climb adg do not let the traffic buses run till i say

पुलिसकर्मी- हमें देख ऐसे बस चलाते हैं, जैसे चढ़ा ही देंगे एडीजी: जब तक मैं न कहूं, ट्रैफिक वाले बसें न चलने दें

Shivpuri News - पुलिस परेड ग्राउंड में एडीजी राजाबाबू सिंह पुलिस दरबार लगाकर समस्या सुनते हुए। सबके सामने जो अपनी समस्या नहीं...

Nov 19, 2019, 09:51 AM IST
पुलिस परेड ग्राउंड में एडीजी राजाबाबू सिंह पुलिस दरबार लगाकर समस्या सुनते हुए।

सबके सामने जो अपनी समस्या नहीं बता पा रहा है, वह लिखकर बंद लिफाफे में मेरे पीए को दे दें

एडीजी ने जिले के अधिकारियों से कहा कि अधीनस्थ कर्मचारियों की जो भी शिकायते हैं, तत्काल समाधान करें। पहले पाया गया था कि पुलिस अधीक्षक कार्यालय स्टाफ द्वारा पीपीएफ, मेडिकल क्लेम, डीए क्लेम के प्रकरण दबाए रखता है। इन मामलों को पुलिस अधीक्षक स्वयं देखेंगे। निकाल नहीं हो रहा है तो मेरे पीए को मैसेज डाल दें, तत्काल निकारण होगा। सबके सामने जो अपनी समस्या नहीं बता पा रहे हैं बंद लिफाफे में मेरे पीए को दे दें। उनका निराकरण करेंगे।

छर्च थाना प्रभारी को 5 हजार का इनाम देने की घोषणा

पुलिस दरबार में मौज्ूद छर्च थाना प्रभारी राजेंद्र शर्मा ने कहा कि जब वे पोहरी थाने में पदस्थ थे, तब ग्राम पंचायत के माध्यम से जनभागीदारी से 12 लाख रुपए मंजूर हुए थे। जिसमें से सिर्फ 6 लाख रुपए और आज वहां की बाउंड्रीवाल देखने लायक है। साथ ही पोहरी थाने में पानी की समस्या का हल बताया कि 200 मीटर दूरी पर नई तहसील परिसर में बोरवेल में काफी पानी है। कनेक्शन ले लें तो समस्या दूर हो जाएगी। समाधान निकालने पर एडीजी ने छर्च थाना प्रभारी राजेंद्र शर्मा को पांच हजार का इनाम देने की घोषणा कर दी।

अपनों के बीच रहेंगे ताे पेशे के साथ न्याय नहीं कर पाएंगे

एडीजी ने कहा कि मप्र में पुलिसकर्मी अपने जिले में रह सकते हैं। उप्र में ऐसा नहीं है। लेकिन पुलिसकर्मी चाहता है कि वह घर में नौकरी करे। जिस थाने का रहने वाला है, उसी थाने या बगल के थाने में पोस्टिंग मिल जाए। मुझे लगता है कि ऐसी प्रवृत्तियों से बचना चाहिए। क्योंकि पुलिस का काम ऐसा है कि अगर आप अपनों के बीच में रहेंगे ताे अपने पेशे के साथ न्याय नहीं कर पाएंगे।

रात्रि गश्त में महिला कर्मियाें को मिलेगा वाहन

सिटी कोतवाली में पदस्थ एक महिला पुलिसकर्मी ने समस्या रखी कि उसे नाइट ड्यूटी में रात्रि गश्त पैदल करना पड़ता है। रात्रि गश्त के लिए वाहन उपलब्ध कराने की बात कही। एडीजी ने कहा कि आगे से जब भी महिलाओं की नाइट ड्यूटी लगाएं तो वाहन के साथ भेजें। वहीं कोलारस और पिछोर थाने की बाउंड्रीवाल की समस्या रखी। इस पर एडीजी ने बजट का अभाव बताते हुए कहा कि स्थानीय विधायक की निधि से करवा का प्रयास करें।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना