वाहन में ओवरलोड सवारियां भरकर कराया जा रहा जोखिम भरा सफर

Shivpuri News - नियम विरुद्ध संचालित हो रही हैं ग्रामीण क्षेत्र में बसें, जिम्मेदार नहीं कर रहे कार्रवाई जिले के अमोला थाना...

Feb 27, 2020, 08:21 AM IST

नियम विरुद्ध संचालित हो रही हैं ग्रामीण क्षेत्र में बसें, जिम्मेदार नहीं कर रहे कार्रवाई

जिले के अमोला थाना क्षेत्र के में इन दिनों बस मालिकों द्वारा बस में क्षमता से अधिक अंधाधुंध सवारियां बैठाकर हादसों को चेतावनी दे रहे। स्थिति यह है कि इन दिनों शादियां अधिक होने के कारण यात्रियों को बसों की छत पर बिठाया जा रहा है। सिरसौद चौराहे से पिछोर मार्ग और रोड मार्ग पर अंधाधुंध लोगों को बसों की छतों पर बैठा कर बेखौफ होकर थाने के सामने से गुजर रही हैं। इसके बाद भी पुलिस के आला अधिकारी इस और कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं। खासबात यह है कि इन दिनों शादियां अधिक होने के कारण यात्रियों का आना-जाना भारी संख्या में लगा है और ऐसे में बस संचालक मनमानी करते अंदर बंद कराया भी वसूल रहे हैं। पुलिस बाइक सहित अन्य छोटे वाहनों पर चालानी कार्रवाई करते हैं, लेकिन बड़े वाहनों बस इत्यादि पर कोई चालानी कार्रवाई नहीं करते। इससे हमेशा हादसा होने की आशंका बनी रहती है। गौरतलब यह है कि नियमों को खूंटी पर टांगकर बसों का संचालन होने के बाद भी जिम्मेदार मौन बने हुए हैं।

थानों के सामने से निकलने के बाद भी नहीं कार्रवाई

क्षमता से अधिक सवारियां भरकर सफर कराने वाले बस संचालकों पर कार्रवाई ना होने से हौसले इतने बुलंद हैं कि थाने के सामने से हैं प्रतिदिन ना केवल क्षमता से अधिक बल्कि छत पर भी सवारियां बैठा कर निकल रहे हैं। बल्कि बीच सड़क पर कही भी सवारियां उतारने व चढ़ाने के लिए सवारियां बैठाई जा रही है। साथ ही चलती बस में सवारियां उतरने व चढ़ाने से भी कंडेक्टर संकोच नहीं कर रहे हैं। इसके बाद भी पुलिस इनके खिलाफ कोई कार्रवाई करना मुनासिब नहीं समझ रही है।

पहले हो चुके ये हैं हादसे, फिर भी नहीं हुआ संधार

करैरा से पिछोर अंचल और खोड़ अंचल क्षेत्र में बसों पर क्षमता से अधिक सवारियां बिठाकर पहले भी कई हादसे हो चुके हैं। इसमें कुछ माह पहले भौंती के पास स्टेयरिंग फेल होने से कई यात्री घायल हुए थे। इसी प्रकार सिरसौद के पास एक बस ड्राइवर को नींद का झोंका लगने से पलट गई थी इसमें एक दर्जन से यात्री घायल हो गए थे। इनके अलावा अन्य हादसे भी हो चुके हैं इसके बाद प्रशासन इस ओर कोई ठोस कदम नहीं उठा रहा है।

छत पर बैठा रहे सवारियां

करैरा से अंचल तक चलने वाली बसों में अंदर भेड़ बकरियों की तरह क्षमता से अधिक सवारियां भर रहे हैं बल्कि बसों की छतों पर बिठाकर लोगों की जान खतरे में डाल रहे हैं। इसके बावजूद इनके खिलाफ कार्रवाई नहीं हो रही है।

की जाती है कार्रवाई


करैरा के सिरसाैद में छत पर सवारियां ले जाती बस।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना