जिस कस्बे में एकादशी के व्रत ज्यादा होते हैं उस कस्बे में जल की कमी नहीं आती

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:15 AM IST

Shivpuri News - ग्राम सिरसौद में सामूहिक भागवत कथा में सोने का लौटा माई दौई बिरिया धुन पर थिरके भक्त भास्कर...

Krera News - mp news the town where the fast of ekadashi is fast there is no shortage of water in that town
ग्राम सिरसौद में सामूहिक भागवत कथा में सोने का लौटा माई दौई बिरिया धुन पर थिरके भक्त

भास्कर संवाददाता|करैरा-सिरसौद

जिले के ग्राम सिरसौद में स्थित काली माता मंदिर प्रांगण में चल रही श्रीमद भागवत कथा में गुरुवार को कथा वाचक रविंदानंद महाराज शास्त्री ने कथा सुनाते हुए कहा कि पृथ्वी पर जब-जब अधर्म बढ़ता है, तब-तब भगवान विविध रूप में अवतार लेते हैं। पृथ्वी को असुरों से विहीन कर देते हैं। भागवत सप्ताह ज्ञान यज्ञ के पांचवें दिन की कथा मैं भगवान श्रीराम जन्म, श्रीकृष्ण जन्म की कथा को श्रवण कराते हुए शास्त्री ने कहा कि भगवान का जन्म बड़ा ही दिव्य हैं। भगवान वैसे तो सृष्टि के कण-कण में विराजमान है, लेकिन हमारा कर्तव्य है कि हम कथाओं एवं भजन के माध्यम से अपने हृदय प्रदेश को ब्रज वृंदावन बनाकर के हर एक दिन अपने हृदय में भगवान का जन्म कराते रहे, उनकी याद करते रहे, उनके उत्सवों में डूबे रहे, इससे अच्छा जीवन और किसी का हो नहीं सकता।

कलयुग में तो भगवान बहुत ही सहजता से प्राप्त हो जाते हैं, तुलसीदास जी हों इस कलयुग में जिनके ऊपर भगवान की कितनी कृपा रही, कई बार भगवत साक्षात्कार किया। इन लोगों ने और वहीं महापुरुषों ने अपने-अपने अनुभव को ग्रंथों में भी व्यक्त किया है, जिसे पढ़कर उसी मार्ग पर हम भी चल सकते हैं तो हमारे ऊपर भी भगवान की पूरी कृपा होगी। यह निश्चित है कि अधर्म समाज में अधिक समय तक टिकने वाली नहीं है। धर्म हमेशा से चला आ रहा है। वह सत्य है की अच्छे संस्कार होंगे तो परिवार में भी बैकुंठ की तरह वातावरण है।

राजा दशरथ पर सब कुछ था लेकिन भगवान नहीं थे

शास्त्री ने आगे कथा सुनाते हुए कहा कि राजा दशरथ के जीवन में सब कुछ था, केवल भगवान नहीं थे तो व्याकुल हो गए। सब कुछ होने के बाद भी व्याकुलता हुई, सत्य के ऊपर आरूढ़ रहो संतों का हमेशा सम्मान करो, दुष्टों से नास्तिकों से हमेशा दूरी बना कर रखो, वह नास्तिक खुद का भी भला नहीं कर पाते और न ही किसी दूसरे का भला कर सकते हैं। कथा में नंद महोत्सव मनाया गया। जिसमें की वैदिक ब्राह्मण आचार्यों द्वारा भगवान गोपाल का विधिवत दूध- दही, घी, शक्कर, शहद, पंचामृत आदि से अभिषेक कराया गया।

X
Krera News - mp news the town where the fast of ekadashi is fast there is no shortage of water in that town
COMMENT