--Advertisement--

अमरीका से ऐसे आई मदद

अमरीका से ऐसे आई मदद वर्ष 1954 में शुजालपुर छोड़ने के बाद अमेरिका जा बसे रविंद्र जैन बिना ग्यारंटी लोन देते हुए...

Dainik Bhaskar

Mar 08, 2018, 05:20 AM IST
अमरीका से ऐसे आई मदद

वर्ष 1954 में शुजालपुर छोड़ने के बाद अमेरिका जा बसे रविंद्र जैन बिना ग्यारंटी लोन देते हुए ग्रामीणों को सशक्त बनाने का काम करने साल में दो बार शुजालपुर आते है। इनका लोन बिना मांगे जरूरतमंद तक पहुंचता है व बिना कोई ब्याज दिए 20 माह में किश्तों में वापस देना होता है। घूमते हुए ग्राम झाड़ला पहुंचने के दौरान इस महिला से भेंट हुई और स्वरोजगार के लिए प्रेरित करने बिना लिखित दस्तावेज चल रही इस मदद की बैंक से लोन स्वीकृत हुआ। इलाके में अब तक ऐसे 50 परिवारों की जिंदगी ये संस्था बदल चुकी है और शांतिसेवा के ब्लॉग पर पपीता बाई की कहानी पूरा विश्व पढ़ रहा है। पांच बार कुल 40 हजार की मदद लेने के बाद अब यह महिला घरेलू काम कर मवेशी पालन से अच्छी आय कमा पाती है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..