Hindi News »Madhya Pradesh »Shujalpur» मरीजों को मुफ्त रक्त देने लोगों को प्रेरित कर 9 साल में लगाए 54 कैंप और जुटाया 2 हजार 467 यूनिट खून

मरीजों को मुफ्त रक्त देने लोगों को प्रेरित कर 9 साल में लगाए 54 कैंप और जुटाया 2 हजार 467 यूनिट खून

भास्कर संवाददाता | शुजालपुर सरकारी अस्पताल में नौकरी के दौरान महिला मरीजों को खून के लिए परेशान होते देख सरकारी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 08, 2018, 05:20 AM IST

भास्कर संवाददाता | शुजालपुर

सरकारी अस्पताल में नौकरी के दौरान महिला मरीजों को खून के लिए परेशान होते देख सरकारी कर्मचारी जया माहेश्वरी के मन में ऐसी टीस लगी कि उन्होंने लोगों को रक्तदान के लिए प्रेरित करने का बीड़ा उठा लिया। 9 साल में नौकरी-गृहस्थी से हटकर जो भी समय बचा उसमें रक्तदान के लिए कैंप आयोजित कराए। 9 साल में शुजालपुर में 54 कैंप लगाकर 2467 लोगों को रक्तदान कराने वाली जया ने बताया मरीजों को मुफ्त में रक्त आसानी से सुलभ हो सके यही मकसद सुकून देता है।

सरकारी अस्पताल में काउंसलर के पद पर कार्यरत जया ने बताया जब लोगों को रक्तदान करने के लिए प्रेरित करने की मुहिम शुरू की, तो वर्ष 2010 में सिर्फ 87 लोगों ने रक्तदान किया। धीरे-धीरे कैंप लगाकर लोगों को जागरूक करने की इस मुहिम ने रफ्तार पकड़ी और लोग जुड़ते चले गए। जया के निर्देशन में अब हर साल शहर में एक दर्जन रक्तदान शिविर अलग-अलग स्थानों पर अलग-अलग संगठन आयोजित करते हैं। 2017 में 575 यूनिट रक्तदान शुजालपुर से हुआ और इस साल के दो माह में हुए 265 यूनिट रक्तदान सहित अब तक बीते 9 सालों में 2467 यूनिट खून शहर के लोग मरीजों की मदद के लिए सुलभ करा चुके है। लोगों में रक्तदान से जुड़ी भ्रांतियां के प्रति जागरूक करने के साथ ही जया माहेश्वरी ने रक्त देने से होने वाले लाभ भी बताने का काम बखूबी किया है। इनकी प्रेरणा से आयोजित रक्तदान शिविर में वर्ष 2017 में चलित वाहन में 217 यूनिट रक्तदान कर शुजालपुर ने नेशनल एक्सीलेंस सर्टिफिकेट अवॉर्ड हासिल किया था।

नगर पालिका अध्यक्ष को रक्तदान का प्रमाणपत्र देतीं जया।

ग्रामीण क्षेत्रों में भी लगा रहीं कैंप

शुजालपुर शहर, अकोदिया व कालापीपल में कई रक्तदान शिविर आयोजित करने के बाद अब जया ने जनपद पंचायत के सभी गांव में रक्तदान शिविर लगाने की मुहिम शुरू की है। ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं व युवाओं को रक्तदान के लिए प्रेरित करने के इस काम में सरपंच, सचिव, रोजगार सहायक व ग्रामीण क्षेत्र के युवा भरपूर मदद कर रहे हैं। हर रक्तदाता को जया माहेश्वरी सामाजिक संगठनों की मदद से रक्तदान का प्रशंसा पत्र तो देती है। साथ ही उनके पास इलाके में हमेशा रक्तदान के लिए तत्पर रहने वाले 2000 युवाओं- महिलाओं का ब्लड ग्रुप व मोबाइल नंबर भी रहता है ताकि जरूरत पड़ने पर रक्तदाताओं को मरीज की मदद के लिए भेजा जा सके।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shujalpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×