--Advertisement--

अमेरिका से मिला 300 डॉलर लोन अब खड़ा कर दिया खुद का व्यापार

भास्कर संवाददाता | शुजालपुर जिस ग्रामीण महिला को स्थानीय संस्थाओं व लोगों ने बिना ग्यारंटी व्यापार के लिए...

Dainik Bhaskar

Mar 08, 2018, 05:20 AM IST
भास्कर संवाददाता | शुजालपुर

जिस ग्रामीण महिला को स्थानीय संस्थाओं व लोगों ने बिना ग्यारंटी व्यापार के लिए वित्तीय मदद देने से इंकार कर दिया, उसने अमेरिका निवासी भारतीय मूल के व्यक्ति की संस्था से 300 डालर का लोन लेकर स्वरोजगार शुरू किया और आज वह अपने पैरों पर खड़ी है।

शुजालपुर के समीप ग्राम झाड़ला में रहने वाली पपीताबाई ग्रामीण परिवेश की होने से योजनाओं का लाभ नहीं ले पा रही थी। कई बार दफ्तरों के चक्कर लगाए, लेकिन कोई मदद नहीं मिली। कोई भी बिना ग्यारंटी के लोन नहीं दे रहा था, तब वर्ष में शुजालपुर से जाकर अमेरिका में बसे रविंद्र जैन की संस्था शांति सेवा ने पपीताबाई को 2012 में 300 डॉलर यानी लगभग 20,000 का लोन दिया। बिना ब्याज स्वरोजगार के लिए लोन उपलब्ध कराने वाली संस्था के रवि जैन ने बताया पपीता बाई ने पहले घर पर ही महिलाओं के उपयोग में आने वाली सामग्री को बेचना शुरू किया और धीरे-धीरे संस्था द्वारा लिया गया पूरा पैसा भी चुका दिया। दूसरी बार सिलाई मशीन व अन्य संसाधनों के लिए महिला ने अधिक राशि का लोन लिया, उसे भी वह नियमित रूप से देने के बाद तीसरी बार लोन लेकर जीवन सुधार चुकी है। ग्रामीण महिला पपीताबाई ने बताया वह अपने परिवार का पालन पोषण करने में अब स्वरोजगार के माध्यम से महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है और गांव की वो सफल उद्यमी है, जिसने बिना सरकारी मदद से अपना रोजगार खड़ा किया और उसे चलाकर लोन भी दे दिया।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..