Hindi News »Madhya Pradesh »Shujalpur» 30 साल से अन्न त्याग चुके रामदासत्यागीजी का निधन

30 साल से अन्न त्याग चुके रामदासत्यागीजी का निधन

नगर के श्री गुप्तेश्वर महादेव मंदिर में निवासरत श्रीरामदासत्यागीजी महाराज (75) सोमवार सुबह करीब 10 बजे ब्रह्मलीन हो...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 06, 2018, 05:35 AM IST

नगर के श्री गुप्तेश्वर महादेव मंदिर में निवासरत श्रीरामदासत्यागीजी महाराज (75) सोमवार सुबह करीब 10 बजे ब्रह्मलीन हो गए। उनके नहीं रहने की खबर फैलते ही नगर व समीपस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में शोक की लहर दौड़ गई। हर कोई गुरुदेव के अंतिम दर्शन पाने मंदिर पहुंचा।

जानकारी मिली कि संतश्री पिछले चार दिनों से बीमार चल रहे थे। इस दौरान उनको इलाज के लिए आगर व इंदौर ले जाया गया। इसके बाद उन्हें वापस श्री गुप्तेश्वर आश्रम पर लाया गया, जहां उन्होंने सोमवार सुबह अंतिम सांस ली। अंतिम यात्रा में हजारों की संख्या में आमजन शामिल हुए। संतश्री के पार्थिव शरीर को डोल में विराजित करके अंतिम यात्रा निकाली गई। कई भक्तजन रामधुन गाते चल रहे थे। यात्रा अशोक मार्ग, चौक बाजार, गणेश दरवाजा, शिवाजी चौराहा होकर मां बगलामुखी मंदिर के गार्डन क्षेत्र पहुंची, जहां उन्हें मुखाग्नि दी गई। नगर से करीब 25 किमी दूर राजगढ़ जिले के नगर छापीहेड़ा में गुरुजी के कई भक्त रहते हैं। अपने गुरु के निधन की खबर मिलने पर सुबह से वे प्रतिष्ठान बंद रखकर अंतिम यात्रा में शामिल होने नलखेड़ा आए। नगर सहित छापीहेड़ा, आगर, सुसनेर, शुजालपुर, उज्जैन, सामरी, पिलवास आदि क्षेत्रों से लोग अंतिम यात्रा में सम्मिलित हुए।

महाराज के पार्थिव शरीर का दर्शन करते लोग।

लगभग 30 सालों से नहीं खाया अन्न

पूज्य गुरुदेव रामदासत्यागीजी महाराज ने अपने जीवन के लगभग 30 वर्षों से ज्यादा साल तक अन्न नहीं खाया। वह केवल फलाहार ही लेते थे, वह भी उनके स्वयं के हाथ का बना होता था।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shujalpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×