• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Shujalpur News
  • परीक्षाएं 31 से, केंद्र नहीं बदले, मोहन बड़ोदिया के विद्यार्थियों को जाना पड़ेगा 25 किलोमीटर दूर
--Advertisement--

परीक्षाएं 31 से, केंद्र नहीं बदले, मोहन बड़ोदिया के विद्यार्थियों को जाना पड़ेगा 25 किलोमीटर दूर

सेमेस्टर प्रणाली खत्म होने के बाद जिले के सरकारी-निजी कॉलेजों में दाखिला लेने वाले हजारों छात्रों के लिए वार्षिक...

Dainik Bhaskar

Mar 13, 2018, 05:45 AM IST
सेमेस्टर प्रणाली खत्म होने के बाद जिले के सरकारी-निजी कॉलेजों में दाखिला लेने वाले हजारों छात्रों के लिए वार्षिक परीक्षाओं का दौर 31 मार्च से शुरू हो जाएगा। स्नातक प्रथम वर्ष के लिए उच्च शिक्षा विभाग ने तो पद्धति बदल दी, लेकिन विक्रम विवि उज्जैन प्रबंधन ने परीक्षा केंद्र नहीं बदले। वार्षिक परीक्षा भी छात्रों को उन्हीं केंद्रों पर देना पड़ेगी जो सेमेस्टर परीक्षाओं के होते हैं। इस व्यवस्था से जिले के लीड बीएसएन व शुजालपुर के जेएनएस पीजी सरकारी कॉलेजों पर एक बार फिर कुल 4 संस्थाओं की परीक्षा कराने का भार आया है। मो. बड़ोदिया कॉलेज के छात्रों को परीक्षा देने करीब 25 किमी दूर शाजापुर तो अकोदिया कॉलेज के छात्रों को करीब 15 किमी दूर शुजालपुर जाना पड़ेगा।

पहली बार ऐसा हो रहा है कि बीए संकाय की परीक्षा दोपहर की पाली (सुबह 11 से दोपहर 2 बजे) की जगह बीएससी के साथ सुबह 7 से 10 बजे की पाली में ही होगी। दूरदराज क्षेत्रों से आने वाले बीए के छात्रों को परीक्षा देने घर से अलसुबह से निकलना होगा। इसलिए उन्हें कुछ परेशानी आ सकती है। एक ही पाली में दो संकायों की परीक्षा होने से कॉलेजों को भी स्टाफ भरपूर जुटाना पड़ेगा।

सेमेस्टर की तरह रहेंगे वार्षिक परीक्षा केंद्र

मामले में लीड कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य डॉ. वीके शर्मा ने बताया विवि ने 31 मार्च से शुरू होने वाली वार्षिक पद्धति की परीक्षा के लिए सेंटर लिस्ट जारी कर दी है। परीक्षा केंद्र वही रहेंगे जो सेमेस्टर परीक्षाओं में बनाए जाते हैं। बीए की परीक्षा पहली बार सुबह 7 से 10 बजे की पाली में ही होगी। विवि ने प्रस्तावित शब्द हटाकर नए सिरे से टाइम टेबल भी जारी कर दिया है। कार्यक्रम यथावत है।

जिले के लीड व शुजालपुर के जेएनएस कॉलेज को बनाया चार संस्थाओं का केंद्र

किस कॉलेज का परीक्षा केंद्र कहां, जानें







(स्रोत: विक्रम विवि प्रबंधन द्वारा जारी सेंटर लिस्ट।)

प्रस्तावित शब्द हटाकर जारी किया टाइम टेबल

विवि ने वार्षिक परीक्षा के लिए सबसे पहले जो टाइम टेबल जारी किया था, उसमें हर पेज पर प्रस्तावित शब्द होने से बदलाव का संशय था। भास्कर ने भी उस समय इस मुद्दे को उठाया था। तीन-चार दिनों बाद 5 मार्च को नए सिरे से प्रस्तावित शब्द हटाकर टाइम टेबल जारी कर दिया गया। परीक्षा कार्यक्रम यथावत है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..