शुजालपुर

  • Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Shujalpur News
  • सेहत के लिए बापू हानिकारक नहीं होता तो फोगाट जैसी महिला पहलवान नहीं बनतीं
--Advertisement--

सेहत के लिए बापू हानिकारक नहीं होता तो फोगाट जैसी महिला पहलवान नहीं बनतीं

भास्कर संवाददाता | शुजालपुर सेहत के लिए बापू हानिकारक नहीं होता तो फोगाट जैसी महिला पहलवान नहीं बनतीं और दंगल...

Dainik Bhaskar

Feb 28, 2018, 06:35 AM IST
सेहत के लिए बापू हानिकारक नहीं होता तो फोगाट जैसी महिला पहलवान नहीं बनतीं
भास्कर संवाददाता | शुजालपुर

सेहत के लिए बापू हानिकारक नहीं होता तो फोगाट जैसी महिला पहलवान नहीं बनतीं और दंगल फिल्म नहीं बनती। समाज में महिलाओं के लिए नजरिया बदलने के साथ ही ये समझना जरूरी है कि बेटियों को किसी से कम न समझते हुए उन्हें समान अवसर मिले। ऐसे ही विचार शोध व आंकड़ों के साथ रखते हुए 15 से अधिक शोधार्थियों ने सोमवार को जेएनएस कालेज में महिला सशक्तिकरण -चुनौतियां एवं संभावनाएं विषय पर आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी को संबोधित किया। 200 से अधिक शोधार्थी व देशभर के विद्वान इसमें भाग लेने पहुंचे। बुधवार दोपहर समापन सत्र होगा।

इंदौर की रिसर्च स्कॉलर निधि चक्रवर्ती ने महिलाओं की स्थिति सुधारने व नजरिया बदलने के अपेक्षित प्रायोगिक उपाय आंकड़ों के साथ रखे। इससे पूर्व शासकीय जवाहरलाल नेहरू स्नातकोत्तर महाविद्यालय में म.प्र.शासन द्वारा प्रायोजित संगोष्ठी का उद्घाटन समारोह डाॅ. जी.आर.गांगले प्रभारी प्राचार्य की अध्यक्षता व डाॅ.निशा दुबे विभागाध्यक्ष विधि एवं पूर्व कुलपति बरकतुल्लाह विश्वविद्यालय भोपाल के मुख्य आतिथ्य में हुआ।

महिलाओं के प्रति नजरिया बदलने पर दिया वक्ताओं ने जोर, 200 से अधिक शोध हुए प्रस्तुत

पुरुषों को भी बदलना चाहिए

विषय विशेषज्ञ के रूप में डाॅ. रमेश मकवाना, प्राध्यापक एवं विभागाध्यक्ष समाज शास्त्र सरदार पटेल विवि आणंद (गुजरात) उपस्थित थे। विशेष अतिथि गोपाल राठी, जीतेंद्र गुरेनिया, डाॅ. विनोद देशमुख रहे। डाॅ. देशमुख ने समाज में महिलाओं के प्रति पुरुषों के नजरिये को बदलने पर जोर दिया। पूर्व कुलपति डाॅ. निशा दुबे ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर अतिथियों द्वारा शोध सारांश पत्रिका (सोवनिर) का विमोचन भी किया गया। कार्यक्रम का संचालन डाॅ.बी.के.त्यागी ने किया। 28 फरवरी को दोपहर 1.30 बजे समापन समारोह होगा। इसमें मप्र जनअभियान परिषद के उपाध्यक्ष प्रदीप पांडे, कालापीपल विधायक इंदर सिंह परमार व नपाध्यक्ष संदीप सणस मुख्य अतिथि होंगे।



संगोष्ठी में प्रदेश एवं प्रदेश के बाहर के विभिन्न महाविद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों से शोधार्थी एवं प्राध्यापकों ने भाग लिया एवं शोध पत्र प्रस्तुत किए।

शोध सारांश पत्रिका का किया विमोचन, समापन समाराेह आज

X
सेहत के लिए बापू हानिकारक नहीं होता तो फोगाट जैसी महिला पहलवान नहीं बनतीं
Click to listen..