Hindi News »Madhya Pradesh »Shujalpur» 50 हजार भक्तों ने सेमली में हाटकेश्वर महादेव के दर्शन किए

50 हजार भक्तों ने सेमली में हाटकेश्वर महादेव के दर्शन किए

नगर सहित क्षेत्र के अंचल में भी मंगलवार को महाशिवरात्रि पर्व मनाया गया। हालांकि दो दिन शिवरात्रि होने एवं अवकाश...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 14, 2018, 06:40 AM IST

नगर सहित क्षेत्र के अंचल में भी मंगलवार को महाशिवरात्रि पर्व मनाया गया। हालांकि दो दिन शिवरात्रि होने एवं अवकाश भी 14 फरवरी को होने से मंदिरों में कुछ कम भीड़ रही। सुबह से भक्त शिव मंदिर में पहुंचे। अभिषेक, पूजन के बाद भगवान की बरात निकाली गई। शाम को जगह-जगह आकर्षक शृंगार किया गया और प्रसादी वितरित की गई।

गुलाना/बोलाई | सेमली धाम स्थित भगवान हाटकेश्वर महादेव व गोविंद जाने आश्रम स्थित पातालेश्वर महादेव का विशेष अभिषेक व पूजन-अर्चन कर श्रद्धालुओं ने पुण्य लाभ लिया।

प्रदेशभर के 50 हजार से ज्यादा श्रद्धालुओं ने सेमलीधाम पहुंचकर हाटकेश्वर महादेव के दर्शन किए। सुबह 8 से 11 बजे तक महादेव का अभिषेक किया गया। यहां आए श्रद्धालुओं ने संत कमल किशोर का आशीर्वाद भी प्राप्त किया। वहीं गुलाना, बोलाई, सिमरोल शु., मखावद, कुड़ाना, बाड़ीगांव, निपानिया डाबी व लड़ावद के साथ आसपास क्षेत्र के शिवालयों में श्रद्धालुओं की भीड़ रही। गुलाना बस स्टैंड पर शिव भक्तों द्वारा खिचड़ी बांटी गई।

सुसनेर : पंच देहरिया दर्शन पाने दूर-दूर से आए लोग

सुसनेर | नगर से करीब 10 किमी दूर विध्यांचल पर्वतमाला स्थित पांडवकालीन पंच देहरिया महादेव मंदिर पर महा शिवरात्रि को लेकर मंगलवार को एक दिनी मेला लगा। सुबह महादेव का महा रूद्राभिषेक कर शृंगार किया गया। दर्शन-पूजन के लिए दूर-दूर से श्रद्धालु आए। इसके अलावा मोरूखेड़ी के शिव मंदिर, ताखला के तारकेश्वर महादेव मंदिर, नगर के शिवबाग स्थित ओंकारेश्वर महादेव, नील कंठेश्वर महादेव, मनकामनेश्वर महादेव मंदिर, स्टेट बैंक चौराहा स्थित राम-जानकी मंदिर में भी महादेव की विशेष पूजा-अर्चना हुई।

कानड़ : पार्वती ब्याहने बरात लेकर निकले महादेव

कानड़ | प्राचीन शिवडेरा स्थित भूतेश्वर महादेव मंदिर, शिव पहाड़ी स्थित महादेव मंदिर, पुराने बस स्टैंड स्थित कनकेश्वर महादेव मंदिर पर दिनभर श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। भूतेश्वर महादेव भक्त मंडल ने महाआरती कर सवा क्विंटल खिचड़ी बांटी। कनकेश्वर महादेव मंदिर से शाम को गाजे-बाजे के साथ भोलेनाथ की बरात निकली। बरात में शामिल श्रद्धालुओं को चंदन तिलक लगाया गया। विभिन्न स्थानों पर आयोजन समिति प्रमुख नंदकिशोर वर्मा, योगेंद्र जैन, मनीष मोदी आदि का स्वागत किया गया। महादेव की बरात विभिन्न मार्गों से होकर शिवडेरा पहुंची, जहां 108 दीपों से महाआरती कर सवा पांच क्विंटल प्रसाद बांटा गया।

मक्सी : दूल्हे के रूप में निकले मनकामनेश्वर

मक्सी | मां नर्मदा मंदिर नई आबादी पर खिचड़ी का भंडारा किया गया। खास तौर पर मनकामनेश्वर महादेव बस स्टैंड पर भोलेनाथ दूल्हा रूप में नगर भ्रमण पर निकले। नगर भ्रमण के बाद आरती की गई और खिचड़ी का भंडारा रखा गया। इधर, शिव मंदिर मठ व पेट्रोल पंप के सामने भी भक्तों द्वारा खिचड़ी बांटी गई। प्राचीन बाबा मार्कंडेश्वर, झरनेश्वर, गंगेश्वर महादेव आदि शिवालयों में दर्शनार्थियों का तांता लगा रहा। बाबा मार्कंडेश्वर का सुबह 4 बजे शृंगार, अभिषेक और पूजन पं. कमल गुरु कैलाश गिरि पुजारी ने करवाया।

बड़ौद : सुंदरकांड पाठ हुआ

बड़ौद | महाशिवरात्रि पर सुबह से शाम तक शिव मंदिरों में भीड़ रही। जयेश्वर महादेव, पंचकुइया, गोदड़ मंदिर, गुप्तेश्वर महादेव आदि मंदिरों में पूजा-अर्चना व अभिषेक किए गए। गांधी चौक स्थित महादेव मंदिर पर सुंदरकांड हुआ।

रंथभंवर : दो दिनी मेला लगा

रंथभंवर | महाशिवरात्रि पर्व बुधवार को मनाया जाएगा तथा श्री जगन्नाथेश्वर महादेव पालकी में विराजित होकर नगर भ्रमण करेंगे। इस बार भी दो दिनी मेले का आयोजन चल रहा है। बड़ी संख्या में आसपास के गांवों से ग्रामीण पहुंच रहे हैं। मंगलवार काे भी गांव के नीलकंठेश्वर एवं श्री जगन्नाथेश्वर महादेव का पूजन हुआ। वहीं बुधवार को भी बड़ी संख्या में ग्रामीण मंदिर में दर्शन करने पहुंचेंगे।

भगवान का रूद्राभिषेक

देंदला | श्री महाकालेश्वर महादेव का विशेष पूजन किया गया। गांव में श्री खेड़ापति हनुमान मंदिर में स्थित शिवलिंग पर विभिन्न पूजन सामग्री से रूद्राभिषेक किया गया। पं. राधारमण नागर एवं पं. डॉ. राम नागर (उज्जैन) द्वारा रुद्राष्टक करवाया गया। श्री खेड़ापति हनुमानजी को भी चौला चढ़ाकर शृंगार किया।

बोलाई | सेमली धाम में दर्शन के लिए श्रद्धालुओं की लगी कतार। इनसेट हाटकेश्वर महादेव। कानड़ | शृंगारित भूतेश्वर महादेव।

शिव बरात निकली, मथुरा के कलाकारों ने दी प्रस्तुति

शुजालपुर | इस बार भी शिवरात्रि पर शिव भक्त मंडल ने मंडी क्षेत्र में भोलेनाथ की शोभायात्रा निकाली। शिव भक्त मंडल ने एक निर्धन कन्या का नि:शुल्क विवाह भी करवाया। खेड़ापति हनुमान मंदिर से शुरू शोभायात्रा विभिन्न मार्गों से होता हुआ इंदिरा चौक स्थित पार्वती मंदिर पहुंचा। ऊंट तथा घोड़ों पर युवक ध्वज लेकर शामिल थे। भोलेनाथ सहित अन्य भगवान की झांकी भी समिति द्वारा बनाई गई थी। श्रद्धालुओं ने जगह-जगह इस शिव बरात का स्वागत किया। शिव बारात के दौरान विभिन्न झांकी आयोजकों द्वारा बनाई गई थी। चल समारोह में शामिल मथुरा से आए कलाकारों का नृत्य आकर्षण का केंद्र रहा। इधर, प्राचीन जटाशंकर महादेव मंदिर में स्थापित भोलेनाथ की प्रतिमा का विशेष शृंगार किया गया जटाशंकर मंदिर पर ब्रह्माकुमारी आश्रम द्वारा झांकी सजाई थी।

दूल्हा बनकर निकले महादेव, क्विंटलों से बंटा महाप्रसाद

नलखेड़ा | श्री गुप्तेश्वर महादेव की बरात निकली, जो विभिन्न मार्गों से होकर पुन: चौक बाजार स्थित मंदिर पहुंची। रथ में विराजित महादेव के मुघौटे की भक्तों ने जगह-जगह पूजा की। गुप्तेश्वर मंदिर में आरती के बाद 5 क्विंटल खिचड़ी बांटी गई। नीलकंठेश्वर, इच्छापूर्ण महादेव आदि मंदिरों में भी भीड़ रही। शासन की ओर से भगवान गुप्तेश्वर की पूजा नहीं होना चर्चा का विषय रहा। क्षेत्र के ग्राम ताखला में त्रिवेणी संगम स्थित तारकेश्वर महादेव मंदिर में भी भगवान शंकर के विवाह का आयोजन हुआ। यहां मेला भी लगा। 15 किमी दूर ग्राम गोंदलमहू में भी 11 शिवलिंग की आकृति वाले नीलकंठेश्वर महादेव के भी भक्तों ने दर्शन किए।

हिमालय ईश्वरधाम पर श्रद्धालुओं की रही भीड़

मोरटा केवड़ी |
अति प्राचीन पांडवकालीन हिमालय ईश्वर धाम पर भगवान का विशेष शृंगार कर सुबह 6 बजे आरती की गई। उसके बाद से ही कपाट भक्तों के दर्शन के लिए खोल दिए गए। मान्यता है पांडवों ने अज्ञातवास के दौरान यहां शिवलिंग की स्थापना की थी, तब से मंदिर हिमालय ईश्वर नाम से प्रसिद्ध है। संत रामदास तपस्या स्थली भी रही। आज भी चार समाधिया हैं।

श्री राम कथा- छठे दिन पं. वेंकटेश भाई ने सीता स्वयंवर का परशुरामजी संवाद वर्णन किया। भगवान शिव और पार्वती का विवाह भी कराया गया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shujalpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×