Hindi News »Madhya Pradesh »Shujalpur» भोले की बरात में झूमे श्रद्धालु, मन कामनेश्वर में हुआ शिव-पार्वती विवाह

भोले की बरात में झूमे श्रद्धालु, मन कामनेश्वर में हुआ शिव-पार्वती विवाह

मंगलवार रात महाशिवरात्रि के अवसर पर हर-हर महादेव के जयघोष और तालियों की गूंज के बीच सिर पर लंबी जटाएं, माथे पर भस्म...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 15, 2018, 07:20 AM IST

मंगलवार रात महाशिवरात्रि के अवसर पर हर-हर महादेव के जयघोष और तालियों की गूंज के बीच सिर पर लंबी जटाएं, माथे पर भस्म का तिलक और हाथों में त्रिशूल उठाए, दूल्हा बनकर जब भोलेनाथ आतिशबाजियों और ढोल-ढमाके के साथ पार्वती को ब्याहने बरात लेकर मन कामनेश्वर महादेव मंदिर पहुंचे, तो पूरा परिसर शिवमय हो गया।

मंदिर में शिव बरात का इंतजार कर रहे श्रद्धालुओं ने स्वागत किया। मंदिर परिसर में भगवान शिवजी ने पार्वतीजी को वरमाला पहनाई। बाबा मन कामनेश्वर महादेव की महाआरती उतारी गई। आयोजन के साक्षी सैकड़ों भक्त व जन प्रतिनिधि भी बने। इधर श्री मन कामनेश्वर सेवा मंडल समिति द्वारा दूल्हा-दुल्हन के रूप में महादेव और पार्वती का शृंगार किया गया। शिव बरात स्थानीय विश्राम गृह से शुरू होकर मंदिर पहुंची। मंदिर समिति के सभी सदस्य साफा बांधकर बराती के रूप में शामिल थे।तिथि के चलते दो दिन महाशिवरात्रि को लेकर बुधवार को भी शिवालयों में भक्तों ने महादेव की पूजा-अर्चना की। सुबह से मंदिरों में भक्तों का तांता लगा।

सुसनेर | शिव-पार्वती का स्वरूप निहारने उमड़े भक्त।

निकली भूतों की बरात, शिव-पार्वती का नृत्य निहारने उमड़े भक्त

शुजालपुर | शहर में बुधवार को भी महाशिवरात्रि पर शिवालयों पर सुबह से ही भक्तों की भीड़ लगी रही। राणोगंज, काठिया महाराज मंदिर, महाकाल हवेली मंडी एवं सिटी के किला स्थित जयेश्वर महादेव मंदिर पर अभिषेक किया गया। तीन दिवसीय मेले में पूरे दिन जटाशंकर महादेव मंदिर पर भीड़ बनी रही। मंदिर परिसर में भगवान भोलेनाथ की एक झलक पाने के लिए भक्त शाम तक कतार में लगे रहे। इसी प्रकार राणोगंज में भगवान शिव की पंचमुखी प्रतिमा के दर्शन करने बड़ी संख्या में शिव भक्त पहुंचे। प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की बहनों व भक्तों द्वारा विधायक कार्यालय के पीछे स्थित भक्ति केंद्र से रैली निकाली गई। जो सुबह 10 बजे प्रारंभ होकर शहर के मुख्य मार्गों से होती हुई वापस विश्वविद्यालय पहुंची। यहां आध्यात्मिक और धार्मिक आयोजन के साथ ही शाम 6 बजे सांस्कृतिक संध्या में शिव आधारित व्याख्यान हुए। शोभायात्रा का सरस्वती शिशु वाटिका के सामने मानस एजेंसी के समीप स्वागत हुआ।

सुसनेर | महादेव और पार्वतीजी के रूप में विवाह विधि निभाते बाल कलाकार।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shujalpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×