• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Shujalpur News
  • शुजालपुर के 12 हजार घरों में 1 लाख यूनिट बिजली चोरी रोकने गोपनीय एनर्जी ऑडिट
--Advertisement--

शुजालपुर के 12 हजार घरों में 1 लाख यूनिट बिजली चोरी रोकने गोपनीय एनर्जी ऑडिट

पुरुषोत्तम पारवानी | शुजालपुर हर महीने शुजालपुर के 12 हजार उपभोक्ताओं की 13 लाख यूनिट औसत बिजली खपत के बाद भी बिजली...

Dainik Bhaskar

Mar 14, 2018, 07:35 AM IST
पुरुषोत्तम पारवानी | शुजालपुर

हर महीने शुजालपुर के 12 हजार उपभोक्ताओं की 13 लाख यूनिट औसत बिजली खपत के बाद भी बिजली कंपनी को लाइन लॉस व चोरी से एक लाख यूनिट का पैसा न मिलने से 8 लाख की चपत लग रही है। इसे रोकने के लिए बिजली कंपनी ने शुजालपुर के साथ ही अकोदिया व पोलायकलां में एनर्जी ऑडिट शुरू किया है। इसे गोपनीय रखा गया है ताकि चोरी पर लगाम कसी जा सके।

बिजली कंपनी अब हर यूनिट का हिसाब रखेगी। बिजली कंपनी ने एनर्जी आॅडिट शुरू किया है। इसमें फीडर से ट्रांसफार्मर और ट्रांसफार्मर से घर तक कितनी बिजली गई, इसका पता चल जाएगा। कितने यूनिट की सप्लाई की और कितनी यूनिट की बिलिंग आई, इसका हिसाब किया जाएगा। जिस ट्रांसफार्मर में ज्यादा खपत होगी और बिलिंग कम है, उस क्षेत्र का हर घर चेक किया जाएगा और इन घरों में चल रहे उपकरण के आधार पर बिलिंग की जाएगी। अभी बिजली कंपनी बिलों के आधार पर वसूली करती है। कई इलाकों में जितनी बिजली पहुंच रही है, उतनी बिलिंग नहीं हो रही है। इससे लाइन लाॅस बढ़ रहा है। कई इलाकों में बिजली चोरी देखकर ईमानदार उपभोक्ता भी सोचता है कि हम बिल दे रहे हैं और ये कम बिल भरकर बिजली चोरी कर रहे हैं। ऐसे में बिजली कंपनी ने एनर्जी आॅडिट कराने का फैसला लिया है। इसमें फीडर से ट्रांसफार्मर और ट्रांसफार्मर से घर तक कितनी बिजली पहुंची, इसका हिसाब रहेगा और इसी आधार पर बिलिंग होगी। बिजली कंपनी को अब हर यूनिट का पैसा मिलेगा। जिस क्षेत्र में लाइन लाॅस ज्यादा होगा, वहां फीडर से लेकर घर तक बिजली सप्लाई पर नजर रखी जाएगी। फीडर व ट्रांसफार्मर के बाद ग्राहकों के व्यक्तिगत खपत व राजस्व स्तर को आंका जाएगा। इसके बाद जहां खपत ज्यादा होगी, उस क्षेत्र और घर की बिलिंग की जाएगी। इसके साथ ही चालान और प्रकरण भी बनाए जाएंगे। वर्तमान में शुजालपुर के कुल 6 में से 2 फीडर मंडी क्षेत्र व दीपछाया से जुड़े ट्रांसफार्मर से कनेक्ट उपभोक्ताओं की जांच शुरू की गई है। पोलायकलां व अकोदिया में भी एक-एक फीडर पर काम शुरू हुआ है। अगले चरण में सभी शेष ट्रांसफार्मर की जांच होगी।

भास्कर एक्सक्लूसिव

शहर में 4 हजार 200 जगह गड़बड़ी

शुजालपुर शहर उपयंत्री राजीव पटेल ने बताया शुजालपुर में हर उपभोक्ता का औसतन बिल 800 रुपए का आना चाहिए, लेकिन 42 सौ उपभोक्ताओं की बिलिंग खपतनुसार न होना सामने आने पर जांच की जा रही है। शुजालपुर में दस फीसदी बिजली लाइन लॉस व चोरी में चली जाती है। इस अभियान की शुरुआत सबसे पहले मप्र पश्चिम क्षेत्र बिजली वितरण कंपनी ने इंदौर में कर सुधारात्मक परिणाम आने के बाद प्रदेश के सभी जिलों में लागू किया गया है। लाइन लाॅस को एक साल में कम करने एनर्जी आडिट को विस्तारित कर सभी दूर लागू किया जा रहा है।

योजना

अकोदिया, पोलायकलां के भी एक-एक फीडर के ट्रांसफार्मर पर ज्यादा खपत होने पर हर घर होगा चेक

वसूली बढ़ाने के लिए अभियान शुरू किया है


X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..