मंत्री के आश्वासन पर माने, इसलिए टल गई पैदल यात्रा भास्कर संवाददाता | शुजालपुर दूधी नेवज नदी पर प्रस्तावित...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 17, 2018, 08:05 AM IST

मंत्री के आश्वासन पर माने, इसलिए टल गई पैदल यात्रा

भास्कर संवाददाता | शुजालपुर

दूधी नेवज नदी पर प्रस्तावित कान्याखेड़ी सिंचाई परियोजना की मांग को लेकर नाराज किसानों ने सीएम हाउस तक पैदल मार्च को किसानों ने लोक निर्माण विभाग मंत्री रामपाल सिंह के आश्वासन पर एक माह के लिए टाल दिया है। 16 जनवरी को किसानों के पैदल कूच करने से पहले शासन की ओर से किसानों से चर्चा करने मंत्री पहुंचे थे।

मंत्री रामपालसिंह ने आंदोलनरत किसानों से मुलाकात कर सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों की जानकारी देते हुए बताया मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के प्रतिनिधि के रूप में मुझे चर्चा के लिए भेजा गया है। सरकार जल्द ही दूधी नेवज नदी को प्रवाहमान करने के लिए नर्मदा लिंक के लिए 7500 करोड़ की लागत से सिंचाई परियोजना को मंजूरी देने पर कार्य कर रही है। जिसमें कुछ प्रशासनिक प्रक्रिया को पूरा करने, बजट प्रावधान, कैबिनेट बैठक में स्वीकृत करवाकर मुख्यमंत्री को इसका भूमिपूजन करने जल्द साथ लाने की बात कही। सीएम द्वारा पूर्व में की गई घोषणा पर अगले माह तक अमल करने के आश्वासन पर 40 गांवों के किसानों ने 16 जनवरी को मुख्यमंत्री निवास तक होने वाले पैदल मार्च को एक माह के लिए स्थगित कर दिया। यह मुलाकात अवंतिपुर बड़ोदिया से 7 किमी दूर जावर क्षेत्र के ग्राम हाजीपुर (कुरावर) में हुई। इस दौरान निगम अध्यक्ष रायसिंह सेंधव, आष्टा विधायक रंजीतसिंह गुणवान, सीताराम यादव, जल संसाधन विभाग, नर्मदा घाटी विकास विभाग, सिंचाई विभाग के आला अधिकारी मौजूद थे।

कान्याखेड़ी सिंचाई परियोजना की मांग को लेकर किसान जा रहे थे पैदल सीएम हाउस

सिंचाई परियोजना की मांग कर रहे किसानों को समझाइश देते अधिकारी।

इसलिए उग्र हुए थे किसान

5 फरवरी 2006 को अवंतिपुर बड़ोदिया आगमन के दौरान सीएम ने सभा मंच से शीघ्र ही सर्वे करवाने का आश्वासन दिया था। इसके बाद 2009 में जावर तहसील के शुभारंभ पर सभा मंच से कान्याखेड़ी बांध शीघ्र बनवाने की विधिवत घोषणा की। वर्ष 2014 व 15 में भी आष्टा और जावर में अलग-अलग दो कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने सांसद मनोहर ऊंटवाल के आग्रह पर घोषणा को दोहराते हुए किसानों को आश्वस्त किया था। घोषणा और आश्वासन के बाद भी काम नहीं होते देख अवंतिपुर बड़ोदिया तहसील क्षेत्र के बड़ोदिया, अवंतिपुरा, नेवजखेड़ी, देवनखेड़ी, गिगलाखेड़ी, पंवाड़िया सहित कई गांवों के किसानों ने पैदल मार्च कर भोपाल जाने का एेलान किया था।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shujalpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×