Hindi News »Madhya Pradesh »Shujalpur» गिरदावरी व सूखा राहत काम में कालापीपल तहसील सबसे पीछे

गिरदावरी व सूखा राहत काम में कालापीपल तहसील सबसे पीछे

गिरदावरी व सूखा राहत काम में कालापीपल तहसील सबसे पीछे शाजापुर | सूखा राहत सहित गिरदावरी के मामले में जिले में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 04, 2018, 08:50 AM IST

गिरदावरी व सूखा राहत काम में कालापीपल तहसील सबसे पीछे

शाजापुर | सूखा राहत सहित गिरदावरी के मामले में जिले में कालापीपल तहसील सबसे फिसड्डी है। यहां सिर्फ 21.60 प्रतिशत काम ही हो सका है। इतना ही नहीं शुजालपुर, गुलाना, अवंतिपुर बड़ोदिया और पोलायकलां में भी लक्ष्य के अनुरूप काफी कम काम हो सका। इस पर कलेक्टर श्रीकांत बनोठ ने सभी तहसीलदारों को फटकार लगाई। उन्होंने जल्द से जल्द शेष काम को निपटाने के निर्देश भी दिए।

शाजापुर तहसील में हुआ 96 प्रतिशत काम

उल्लेखनीय है गिरदावरी में शाजापुर तहसील में 96.23 प्रतिशत कार्य हुआ है। मोहन बड़ोदिया में 80. 95, शुजालपुर में 57. 45, गुलाना में 46.91, अवंतिपुर बड़ोदिया में 32, पोलायकलां में 27.91 और कालापीपल में 21.60 प्रतिशत कार्य हुआ है। कलेक्टर ने मुख्यमंत्री हेल्पलाइन से प्राप्त शिकायतों की समीक्षा करते हुए समय सीमा में निराकरण करने के निर्देश दिए। इस तरह समाधान एक दिन में प्राप्त होने वाले आवेदनों का तत्काल निराकरण करने के भी निर्देश दिए।









कलेक्टर ने 28 फरवरी को ग्राम भीलसामी में होने वाले लोक कल्याण एवं विधिक सहायता शिविर में सभी विभागों के अधिकारियों को उपस्थित रहने और विभागीय योजनाओं से हितग्राहियों को लाभान्वित करने के निर्देश दिए। गांवों में आवासीय पट्टे वितरण कार्य की समीक्षा भी की गई।

कल बैठक लेकर राजस्व कार्याे की समीक्षा भी करेंगे -

जिले में राजस्व के कार्यों में धीमी गति होने से कलेक्टर श्रीकांत बनोठ ने सभी राजस्व अधिकारियों की 28 फरवरी को शाम 4 बजे बैठक बुलाई है। सभी अधिकारियों को राजस्व से संबंधित कार्यों की जानकारी लेकर उपस्थित रहने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही जिन अधिकारियों को राजस्व से संबंधित कार्य हो उन्हें भी बैठक में उपस्थित रहने के लिए कहा गया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shujalpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×