शुजालपुर

  • Home
  • Madhya Pradesh News
  • Shujalpur News
  • हड़ताल अस्पतालों में परेशानी बढ़ने लगी, आंगनवाड़ी व सहकारिता कर्मियों ने भी किया प्रदर्शन
--Advertisement--

हड़ताल अस्पतालों में परेशानी बढ़ने लगी, आंगनवाड़ी व सहकारिता कर्मियों ने भी किया प्रदर्शन

भास्कर संवाददाता | आगर-मालवा पिछले पांच दिन से बेमियादी हड़ताल पर बैठे संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों ने...

Danik Bhaskar

Feb 24, 2018, 09:10 AM IST
भास्कर संवाददाता | आगर-मालवा

पिछले पांच दिन से बेमियादी हड़ताल पर बैठे संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों ने शुक्रवार को स्थानीय गांधी उपवन में सांझा चूल्हा पर आधी रोटी बनाकर उसे सेंकते हुए शासन के प्रति रोष जताया। आधी रोटी आधा पेट, संविदा जीवन चढ़ गया भेंट नारे भी लगाए। हड़ताली कर्मचारियों का कहना है प्रदेश के सभी 51 जिले में यह विरोध प्रदर्शन किया गया है। इसका उद्देश्य शासन को यह बताना है कि शासन ने संविदा कर्मचारियों की केवल आधे पेट की ही व्यवस्था की है। संविदा प्रथा एक कुरीति है, जिसे शासन को जल्द दूर करना चाहिए। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष पंकज डाबी, तुषार हरने, सौरभसिंह चौहान आदि मौजूद रहे।

स्वास्थ्यकर्मियों की हड़ताल का असर दिखा

सुसनेर
| सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के तहत आने वाले सभी 18 उप स्वास्थ्य केंद्रों में तैनात संविदा स्वास्थ्यकर्मियों के हड़ताल पर जाने से मरीजों की परेशानियां बढ़ने लगी हैं। स्वास्थ्य विभाग की विभिन्न योजनाओं में लाभान्वित होने वाले हितग्राहियों को समय पर भुगतान नहीं मिल पा रहा है। तो ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण काम प्रभावित हो रहा है।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्रसूति सेवाएं भी प्रभावित हो रही हैं। यहां तो एक प्राइवेट नर्सिंग इंस्टीट्यूट के छात्रों द्वारा ट्रेनिंग हासिल करने के कारण उनको भी काम में लगाया जा रहा है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कार्यरत संविदा पर नियुक्त एएनएम, बीसीएम के हड़ताल पर चले जाने से प्रसूति सेवाएं प्रभावित हो रही है। 19 फरवरी से जारी हड़ताल असर दिखाने लगी है। ग्रामीण क्षेत्रों में वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर स्थाई कर्मचारियों के जिम्मे टीकाकरण कार्य किए जाने से समय पर टीकाकरण नहीं हो पा रहा है।

आधी रोटी बनाकर संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी बोले- आधे पेट में संविदा जीवन चढ़ गया भेंट

मांगों को लेकर आगर-मालवा में आधी रोटी बनाकर विरोध जताते कर्मचारी।

हड़ताल कर रहे सहकारिता कर्मचारियों ने किया शीर्षासन

आगर-मालवा | मध्यप्रदेश सहकारिता समिति कर्मचारी महासंघ के तत्वावधान में बेमियादी हड़ताल कर रहे कर्मचारियों ने शुक्रवार को विरोधस्वरूप शीर्षासन कर प्रदर्शन किया। हड़ताल करने वाले कर्मचारियों ने दावा किया है कि हड़ताल से संस्था संबंधी कार्य लेन-देन, वसूली, पंजीयन एवं उचित मूल्य की दुकानें भी बंद रहीं। हड़ताल को विभिन्न संगठनों का समर्थन भी मिल रहा है।

कक्षाओं का बहिष्कार किया, 24 को भाेपाल जाकर सौंपेंगे ज्ञापन

शुजालपुर |
लंबे समय से अपने नियमितिकरण की मांग कर रहे अतिथियों द्वारा एक दिन बुधवार को कक्षाओं का बहिष्कार करके प्रदेश सरकार के विरुद्ध जमकर नारेबाजी़ की गई। इसके पश्चात गुरुवार को जिला मुख्यालय शाजापुर जाकर कलेक्टर संजय बनोठ को ज्ञापन सौंपा गया। अतिथि शिक्षक संघ के पदाधिकारी प्रवीण व्यास ने बताया 24 फरवरी को भोपाल पहुंचकर मांगों से अधिकारियों को अवगत करवाएंगे।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व सहायिकाओं ने बेची चाय

आगर-मालवा | आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व सहायिकाओं ने शुक्रवार को गांधी उपवन से जिला कार्यक्रम अधिकारी के कार्यालय तक रैली निकाली। विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी निशी सिंह को ज्ञापन सौंपा। हड़ताल कर रही कार्यकर्ताओं-सहायिकाओं ने गुरुवार को विधायक गोपाल परमार के घर के सामने थाली बजाकर प्रदर्शन किया था। मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन उन्हें भेंट किया था।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता-सहायिका संघ की जिला उपाध्यक्ष यास्मीन खान ने बताया ज्ञापन देने के बाद कार्यकर्ताओं व सहायिकाओं ने चाय के ठेले पर पहुंचकर चाय बनाई। चाय बेचकर विरोध दर्ज कराया। संगठन की पदाधिकारियों का आरोप है कि हड़ताली कर्मचारियों पर सुपरवाइजर दबाव बना रही हैं। प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के फाॅर्म लाने के लिए काफी परेशान किया जा रहा है।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने निकाली रैली : बड़ौद | ब्लॉक में की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व सहायिकाओं ने सरकारी कर्मचारी घोषित करने की मांग को लेकर शुक्रवार को रैली निकाली। ये कार्यकर्ता व सहायिकाएं 20 फरवरी से हड़ताल पर हैं। रैली के बाद तहसील कार्यालय में नायब तहसीलदार कुमेरसिंह भिलाला को सीएम के नाम ज्ञापन सौंपा।

आगर-मालवा

बड़ौद

Click to listen..