--Advertisement--

शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को नहीं मिल रहा पीने का पानी

गर्मी के साथ जलसंकट की स्थिति बनने लगी शुजालपुर | जैसे-जैसे गर्मी तेज होती जा रही है वैसे-वैसे ग्रामीण क्षेत्र...

Dainik Bhaskar

May 05, 2018, 04:50 AM IST
गर्मी के साथ जलसंकट की स्थिति बनने लगी

शुजालपुर | जैसे-जैसे गर्मी तेज होती जा रही है वैसे-वैसे ग्रामीण क्षेत्र में जलसंकट बढ़ता जा रहा है। कई कुएं और कुंडियों ने दम तोड़ना शुरू कर दिया है।

जिन तालाबों में अभी तक पानी भरा हुआ था उनमें भी पानी समाप्त हो गया है। हैंडपंप भी धीरे-धीरे बंद होने लगे है। इस कारण अब लोगों को पानी के लिए दूर-दूर भटकना पड़ रहा है। गत माह तक जो हैंडपंप अच्छा पानी दे रहे थे उनमें अब पानी आना बंद हो गया है। इसका पता इस बात से लगता है कि जनपद पंचायत के ग्राम भ्याना में 22 हैंडपंप में से महज 3 हैंडपंप अब पानी दे रहे है। ये भी कब दम तोड़ दे, कह नहीं सकते। ऐसी स्थिति ग्राम अरन्याकलां सहित कुछ अन्य गावों में भी बनने लगी है, लोग दूरदराज से पानी ला रहे है। इधर शहर की स्थिति को लेकर सीएमओ प्रदीप शास्त्री ने बामन घाट डेम पर जाकर पानी की स्थिति को देखा । नायब तहसीलदार रामस्वरूप जायसवाल का कहना है कि लोगों को गर्मी के समय पर्याप्त मात्रा में पानी मिले इसके लिए प्रशासन के द्वारा सतत प्रयास किया जा रहा है। जरूरी हुआ तो निर्माण कार्य भी पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिए जाएंगे। इसी प्रकार की स्थिति ग्राम जामनेर में बनी हुई है। ग्राम में नल जल योजना के तहत नल तो लगे है, लेकिन सार्वजनिक जलस्रोतों में पानी नहीं होने के कारण इनमें पानी नहीं आ रहा है। ग्राम के निवासी जाकिर मंसूरी का कहना है कि प्रतिवर्ष लोग दूरदराज से पानी लेकर आते है इस बार ग्राम पंचायत द्वारा टेंकरों के माध्यम से कुंडियों में पानी डलवा रही है, लेकिन उससे भी पूर्ति नहीं हो रही है। ग्राम के उप सरपंच नारायण धाकड़ का कहना है कि ग्राम पंचायत द्वारा लोगों को पर्याप्त मात्रा में पानी मिले, इसके लिए प्रयास कर रही है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..