Hindi News »Madhya Pradesh »Shujalpur» सिंधु सभ्यता ने समाज को दी है नई दिशा

सिंधु सभ्यता ने समाज को दी है नई दिशा

भास्कर संवाददाता | शुजालपुर सिंधी दिवस की पूर्व संध्या पर सोमवार शाम अपनी मातृभाषा सिन्धी बोली व सभ्यता को...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 10, 2018, 05:00 AM IST

सिंधु सभ्यता ने समाज को दी है नई दिशा
भास्कर संवाददाता | शुजालपुर

सिंधी दिवस की पूर्व संध्या पर सोमवार शाम अपनी मातृभाषा सिन्धी बोली व सभ्यता को जीवित रखने के लिए आकर्षक सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के माध्यम से समाजजनों ने प्रेरक संदेश दिया।

अंबिका नगर संत हिरदाराम सिंधी धर्मशाला में 10 अप्रैल हिंदी दिवस के उपलक्ष्य में पूर्व संध्या पर रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता संत हिरदाराम नगर सिंधी पंचायत के संरक्षक साबूमल रिझवानी ने की। मुख्य अतिथि के रूप में सिन्धु सभा महिला शाखा प्रदेश महामंत्री किरण वाधवानी व स्थानीय पंचायत अध्यक्ष तीरथ दास आसवानी मंचासीन रहे। स्वागत पूर्व अध्यक्ष गुलाबराय मोहनानी ने किया।अतिथियों ने संबोधित करते हुए मातृभाषा सिंधी बोली को जीवित रखने नियमित आयोजनों व जागरूकता की आवश्यकता बताते हुए कहा कि सिंधु सभ्यता ने पूरे मानव समाज को दिशा दी है तथा आज सिंधी और सिन्धियत संस्कृति को अक्षुण्ण बनाए रखने का संकल्प लेने की जरूरत है। उद्बोधन क्रम के बाद आयोजित हुए सांस्कृतिक समारोह की शुरुआत हर्षा वाधवानी, रितु, लक्ष्मी खत्री, कंचन जेसवानी, जया जेसवानी व अन्य ने सिंधी स्वागत गीत के साथ की। इसके बाद में आंधियून में जोत जगायण वारा सिंधी, खाक के सौंण ठायण वारा सिंधी..गीत से महक व लशिका पेशवानी ने समा बांधा।

अंकिता खत्री ने घूमर नृत्य, फैंसी ड्रेस में वंशिका चोइथानी, मयूर पारवानी, जैनील खत्री, चिराग खत्री, आर्यन गंगवानी ने शानदार प्रस्तुति दी। राखी, भूमि, सोहाली खुशी ने भी सिंधी गीत में संस्कृति के साथ घर के संस्कारों व रहन-सहन की बातों को पिरोकर रोचक प्रस्तुति दी। ग्रुप डांस में प्रियंका पारवानी, वंशिका खूबचंदानी, लक्ष्मी व दीपाली ने प्रस्तुति देकर मन मोहा। चिंकी आनंद में रख संदलीय ते पैर..पर लोटपोट कर देने वाली प्रस्तुति से मन मोहा। भूमि, सोनाली, खुशी के साथ राखी ने भी एकल नृत्य प्रस्तुत किया। शिखा खत्री के घूमर डांस, मान्या, कशिश, प्रिया व रिशिता की पैरोडी ने भी खूब सराहना बटोरी। सिंधी भाषा का महत्व बताते हुए सागर खूब चंदानी ने संस्कृति बचाने का संदेश दिया। सफल संचालन मनीषा पारवानी ने किया। आयोजन का समापन बहराणा साहिब की ज्योत का स्मरण कर जन कल्याण के लिए पल्लव प्रार्थना कर किया गया। आयोजन में प्रमुख रुप से कन्हैया लाल पेशवानी, तेजप्रकाश चोइथानी, नरेश मनवानी, कैलाश पारवानी, दिलीप पारवानी, जीतू जेसवानी, सुशील जैसवानी, कीमत राय मनवानी सहित अन्य उपस्थित रहे।

मनमोहक प्रस्तुति से संस्कृति बचाने का दिया संदेश।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shujalpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×