Hindi News »Madhya Pradesh »Shujalpur» 84 जोड़े बंधे परिणय सूत्र में

84 जोड़े बंधे परिणय सूत्र में

शुजालपुर | ग्राम अमलाय पत्थर में बुधवार को आयोजित मध्यप्रदेश राजपूत समाज प्रगति मंडल के प्रादेशिक निःशुल्क आदर्श...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 20, 2018, 05:00 AM IST

शुजालपुर | ग्राम अमलाय पत्थर में बुधवार को आयोजित मध्यप्रदेश राजपूत समाज प्रगति मंडल के प्रादेशिक निःशुल्क आदर्श सामूहिक विवाह सम्मेलन में 84 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे। इनकी सामूहिक बरात प्रमुख मार्गों से होते हुए सम्मेलन स्थल पहुंची। विधिविधान से विवाह संपन्न होने के दौरान कालापीपल विधायक इंदरसिंह परमार ने संबोधित करते हुए कहा कि निःशुल्क सामूहिक विवाह सम्मेलन की पहल सराहनीय है। कांग्रेस सेवादल पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष महेंद्र जोशी, विधायक जसवंत सिंह हाड़ा, नेमीचंद जैन, पूर्व विधायक फूलसिंह मेवाड़ा, पूर्व विधायक बाबूलाल वर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष नरेंद्रसिंह बैस, संजय शर्मा, जनपद अध्यक्ष किशोर सिंह पाटीदार ने भी संबोधित किया।

राजपूत समाज के केंद्रीय कार्यकारिणी अध्यक्ष मिश्रीलाल सिंह सिसौदिया ने कहा कि समाज में व्याप्त अधिक खर्चीली शादी पर अंकुश लगाकर यह प्रदेश स्तरीय निःशुल्क सामूहिक विवाह सम्मेलन किया गया। विधायक इंदरसिंह परमार ने सभी को उपहार स्वरूप गृह उपयोगी सामग्री व कन्यादान राशि भेंट की। इस अवसर पर समाज के उपाध्यक्ष चंदर सिंह सिसौदिया, क्षेत्रीय परिषद अध्यक्ष करण सिंह सोलंकी, टीकाराम सिसौदिया, किशोर सिंह सिसौदिया, हेमराज सिंह राजपूत, पूर्व सरपंच लाड़सिंह सिसौदिया, सरपंच विजेंद्र सिंह सिसौदिया, मदन सिंह राजपूत, मनीषसिंह राजपूत, मनोहर सिंह राजपूत, महिला मंच प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मी ठाकुर, प्रीति सिसौदिया, मीडिया प्रभारी संदीप गेहलोत, जितेंद्र सिसौदिया सहित भोपाल, सिहोर, नरेला, रायसेन, होशंगाबाद, हरदा, इंदौर, राजगढ़, शाजापुर से राजपूत समाज के लगभग 15 हजार की संख्या में समाजजन मौजूद थे। सम्मेलन का संचालन कृष्णपाल सिंह सिसौदिया ने किया।



आभार इंदर सिंह सिसौदिया ने माना।

विवाह के पलों को अपने मोबाइल से कैद करते नवयुगल।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shujalpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×