Hindi News »Madhya Pradesh »Shujalpur» पिता मजदूर, मैथ्स पढ़ने के पैसे नहीं थे तो आर्ट लिया, टॉप किया, डिफेंस में जाने का सपना

पिता मजदूर, मैथ्स पढ़ने के पैसे नहीं थे तो आर्ट लिया, टॉप किया, डिफेंस में जाने का सपना

शुजालपुर | दिहाड़ी मजदूर पिता और आशा कार्यकर्ता माता के साथ सत्यम। इस साल जिले के 12 बच्चे प्रदेश स्तरीय सूची में...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 14, 2018, 05:50 AM IST

  • पिता मजदूर, मैथ्स पढ़ने के पैसे नहीं थे तो आर्ट लिया, टॉप किया, डिफेंस में जाने का सपना
    +8और स्लाइड देखें
    शुजालपुर | दिहाड़ी मजदूर पिता और आशा कार्यकर्ता माता के साथ सत्यम।

    इस साल जिले के 12 बच्चे प्रदेश स्तरीय सूची में शामिल हुए हैं। सभी बच्चे रविवार को ही भोपाल के लिए रवाना हो गए। सभी काे सोमवार को भोपाल में सम्मानित किया जाएगा। ज्ञात रहे बोर्ड परीक्षा परिणामों में लगातार तीन साल से प्रदेशभर में शाजापुर का नाम सबसे ऊपर रहा है। वर्ष 2016 और 2017 में दाेनों कक्षाओं के 11-11 बच्चों ने प्रदेश की मेरिट सूची में जगह बनाकर जिले का नाम प्रदेशभर में चमकाया। मेरिट सूची में शामिल बच्चों को आंकड़ा इस बार और बढ़ गया। चित्र में शाजापुर उत्कृष्ट स्कूल के विद्यार्थी इलियास मंसूरी और फराह खान को प्राचार्य शशि रेखा राजालू सहित स्टाफ सदस्यों ने किया सम्मानित।

    बच्चों को भोपाल बुलाया, आज मुख्यमंत्री करेंगे सम्मानित

    12 वीं की मेरिट सूची में शामिल 4 बच्चे किसान परिवार के

    सपना होकमसिंह परमार (शिक्षक)

    निवासी - लड़ावद

    लक्ष्य- शिक्षक फरहा समीर खान (निजी ड्रायवर)

    लालपुरा शाजापुर

    लक्ष्य- सीए

    इलियास इकबाल मंसूरी (खेती)

    धाराखेड़ी

    लक्ष्य- प्रशासन

    सत्यम हेमराज दसलानिया मजदूरी)

    खरसौदा

    लक्ष्य- डिफेंस

    खुशबू जगदीश शर्मा (खेती)

    सादनाखेडी

    लक्ष्य - कलेक्टर

    रिंकू इंदरसिंह मेवाड़ा (खेती)

    भानियाखेड़ी

    लक्ष्य - शिक्षक

    महेंद्र दिनेश सेन (खेती)

    चाकरोद

    लक्ष्य- वैज्ञानिक

    प्रदेश की टॉप-10 सूची में शामिल जिले के बच्चे

    कक्षा 12वीं- सत्यम पिता हेमराज शुजालपुर, रिंकू मेवाड़ा-खुशबू शर्मा, महेंद्र सेन तीनाें कालापीपल, फराह खान, सपना परमार और इलियास मंसूरी तीनों शाजापुर।

    कक्षा 10वीं- हर्षवर्धन परमार, शुभम मेवाड़ा, श्रीप्रभा और मनीषा राजपूत चारों कालापीपल, खुशी जैन मो. बड़ोदिया।

  • पिता मजदूर, मैथ्स पढ़ने के पैसे नहीं थे तो आर्ट लिया, टॉप किया, डिफेंस में जाने का सपना
    +8और स्लाइड देखें
  • पिता मजदूर, मैथ्स पढ़ने के पैसे नहीं थे तो आर्ट लिया, टॉप किया, डिफेंस में जाने का सपना
    +8और स्लाइड देखें
  • पिता मजदूर, मैथ्स पढ़ने के पैसे नहीं थे तो आर्ट लिया, टॉप किया, डिफेंस में जाने का सपना
    +8और स्लाइड देखें
  • पिता मजदूर, मैथ्स पढ़ने के पैसे नहीं थे तो आर्ट लिया, टॉप किया, डिफेंस में जाने का सपना
    +8और स्लाइड देखें
  • पिता मजदूर, मैथ्स पढ़ने के पैसे नहीं थे तो आर्ट लिया, टॉप किया, डिफेंस में जाने का सपना
    +8और स्लाइड देखें
  • पिता मजदूर, मैथ्स पढ़ने के पैसे नहीं थे तो आर्ट लिया, टॉप किया, डिफेंस में जाने का सपना
    +8और स्लाइड देखें
  • पिता मजदूर, मैथ्स पढ़ने के पैसे नहीं थे तो आर्ट लिया, टॉप किया, डिफेंस में जाने का सपना
    +8और स्लाइड देखें
  • पिता मजदूर, मैथ्स पढ़ने के पैसे नहीं थे तो आर्ट लिया, टॉप किया, डिफेंस में जाने का सपना
    +8और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shujalpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×