• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Shujalpur News
  • माता-पिता व मामा ने लगाया चाची पर जहर देने का आरोप, प्रकरण दर्ज
--Advertisement--

माता-पिता व मामा ने लगाया चाची पर जहर देने का आरोप, प्रकरण दर्ज

भास्कर संवाददाता | शुजालपुर 24 दिन पहले पोलायकलां में दो मासूम बच्चों को जहर देकर उनकी हत्या करने के मामले में...

Danik Bhaskar | Apr 24, 2018, 06:15 AM IST
भास्कर संवाददाता | शुजालपुर

24 दिन पहले पोलायकलां में दो मासूम बच्चों को जहर देकर उनकी हत्या करने के मामले में मृतक बच्चों के माता-पिता व मामा ने बच्चों की चाची पर जहर देने का आरोप लगाया है। पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर जांच व परिजन द्वारा पुलिस को दिए गए कथन के आधार पर अपराध दर्ज कर संदेही आरोपी महिला की मामले से जुड़ी भूमिका की जांच शुरू की है। पुलिस का दावा है कि जल्द ही मामले को सुलझाकर हत्या का खुलासा किया जाएगा।

अवंतिपुर बड़ोदिया थाना प्रभारी टीआर पटेल ने बताया 18 अप्रैल को मृतक बच्चों शुभम व सिया के पिता राधेश्याम ने जेएमएफसी न्यायालय में कथन दर्ज कराए। कोर्ट में कथन देने के साथ ही पुलिस को भी बताया है कि बच्चों की चाची रेखाबाई पति राकेश खाती ने जानबूझकर हत्या करने की नीयत से दोनों बच्चों को जहरीला पदार्थ खिला दिया व साक्ष्य नष्ट कर दिए। पुलिस के अनुसार इसी वजह से बच्चों की उपचार के दौरान मौत हुई तथा असंगेय अपराध दर्ज कर मृतकों के परिजन द्वारा लगाए गए आरोप के अनुसार मामले में जांच की जा रही है। मृत बच्चों के पिता राधेश्याम खाती ने पुलिस को बताया 15 अप्रैल को वह अपने मकान की छत पर था तथा जब वह नीचे आया, तो अपने भाई के कमरे में बहू रेखाबाई को मोबाइल पर किसी से बात करते सुना, इसमें वह किसी से कह रही थी कि मुझसे बड़ी भूल हो गई। मैंने बच्चों को जहर दिया है, मुझे बचा लेना। पुलिस के अनुसार बच्चों को चाची द्वारा जहर दिए जाने की बात सुन राधेश्याम उसके बाद सदमे में दो-तीन दिन के लिए कहीं चला गया और उसके बाद आकर पुलिस को कथन देते हुए सारी जानकारी दी।

बच्चों की मां मायाबाई, मामा कमल सिंह व लक्ष्मीचंद ने भी पुलिस को कथन देकर चाची पर हत्या के आरोप लगाए हैंै। कुल मिलाकर हत्याकांड में जांच की सूई अब मृत बच्चों की चाची रेखाबाई पर टिकी हुई है। थाना प्रभारी पटेल ने कहा प्रारंभिक कथन कर लिए गए है तथा विवेचना में परिजन के कथन होना बाकी है। इसके बाद जल्द ही मामले में सूक्ष्म जांच के उपरांत खुलासा कर आरोपियों को बेनकाब किया जाएगा।

मृतक शुभम व सिया जिनकी सल्फॉस खिलाकर हत्या कर दी गई।

यह था पूरा मामला

पोलायकलां में दो मासूम बच्चों शुभम (5 वर्ष) और सिया ढाई साल दोनों 28 मार्च की रात खाना खाने के बाद दोनों भाई-बहन सो रहे थे। करीब 12.30 बजे देररात अचानक दोनों उल्टी करने लगे। रात में कई बार उल्टी करने पर 29 मार्च की सुबह परिजन बच्चों को लेकर अस्पताल पहुंचे। यहां से उन्हें देवास ले जाने की बात कही। इस पर परिजन दोनों बच्चों को लेकर देवास अस्पताल पहुंचे। इस दौरान रास्ते में शुभम बेहोश हो गया। देवास में प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें इंदौर के बाॅम्बे हाॅस्पिटल में भर्ती कराया गया। इलाज के बाद बच्चों की तबीयत में सुधार हुआ। उन्होंने परिजन से बात भी की, लेकिन उसी रात फिर उनकी अचानक तबीयत बिगड़ी और अगले दिन 30 मार्च की अलसुबह 5 बजे पहले शुभम ने और 7 बजे सिया ने दम तोड़ दिया। बच्चों की मौत के बाद शवों का एमवाय अस्पताल में पीएम कराया गया। पीएम रिपोर्ट में दाेनों बच्चों की मौत सल्फॉस से होना बताया गया। इस पर बच्चों के पिता राधेश्याम ने हत्या की आशंका जताते हुए अवंतिपुर बड़ोदिया पुलिस में शिकायत की थी, लेकिन स्थानीय पुलिस द्वारा संतोषजनक कार्रवाई न करने पर मामला एसपी शैलेंद्रसिंह चौहान की जानकारी में आया था व परिजन ने मामले की जांच कराकर दोषियों पर कार्रवाई की मांग की थी। तब मामले में थाना प्रभारी टी.आर. पटेल ने पीएम रिपोर्ट देरी से मिलने के कारण कुछ समय लगने की बात कही थी।