--Advertisement--

47 अवैध कॉलोनियों को वैध करने के लिए अब तक पहल शुरू नहीं

Dainik Bhaskar

May 07, 2018, 07:20 AM IST

Shujalpur News - शुजालपुर | नगर की छोटी बड़ी सभी कॉलोनियों को मिलाकर करीब 50 से अधिक कॉलोनियां यहां पर है। इसमें से कुछ ही काॅलोनी ऐसी...

47 अवैध कॉलोनियों को वैध करने के लिए अब तक पहल शुरू नहीं
शुजालपुर | नगर की छोटी बड़ी सभी कॉलोनियों को मिलाकर करीब 50 से अधिक कॉलोनियां यहां पर है। इसमें से कुछ ही काॅलोनी ऐसी है जो वैध की सूची में है, शेष सभी कॉलोनियों को अवैध है। कुछ कॉलोनियों में प्लाॅट तो काफी महंगे दामों में लोगों द्वारा खरीदे गए, लेकिन उनमें मूलभूत सुविधा के नाम पर कुछ भी नहीं है। इन कॉलोनियों को बने 20 साल से अधिक हो गए है, लेकिन इनमें न तो सड़क है और न ही पीने के पानी की व्यवस्था।

यहां पर नपा द्वारा नगर के प्रमुख मार्गों पर पाइप लाइन डालने का काम कर रही है, लेकिन इन कॉलोनियों की ओर आज तक ध्यान नहीं दिया। गत नपा चुनाव के दौरान यहां पर आए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने शहर की सभी अवैध कॉलोनियों को वैध करने की घोषणा की थी, लेकिन उसके बाद 3 साल से अधिक का समय बीत चुका है, इसके लिए कोई काम नहीं किया गया। नपा के रिकॉर्ड में कुल 53 काॅलोनी शहर में दर्ज है, इसमें से 11 काॅलोनी वैध की सूची में शामिल है। शेष सभी 47 काॅलोनी आज भी अवैध है। यहां सबसे पुरानी कृष्णा नगर काॅलोनी, पाटीदार काॅलोनी और प्रेमनगर काॅलोनी के कुछ हिस्सों में आज तक नल कनेक्शन के लिए पाइप लाइन तक नहीं डाली गई। ब्रह्मपुरी कॉलोनी, विद्यानगर कॉलोनी, प्रेमनगर कॉलोनी, कृष्णा नगर कॉलोनी, नीलकंठेश्वर कॉलोनी, चित्रांश नगर सहित कुछ अन्य कॉलोनियों में आज तक रोड नहीं बने। इस कारण लोगों को बारिश के समय कीचड़ में से जाना पड़ता है। अब गत नपा चुनाव के समय सीएम द्वारा जो घोषणा अवैध कॉलोनी को वैध कॉलोनी के रूप में मान्यता देने के लिए की गई थी, लेकिन अब तक इसके लिए कोई कार्रवाई शुरू नहीं की गई। इस बारे में पार्षद प्रवीण जोशी का कहना है कि नगर पालिका के चुनाव के समय में मुख्यमंत्री के द्वारा जो घोषणा की गई थी उसके बाद परिषद को नगर की उन कॉलोनियों की ओर ध्यान देना चाहिए, जिन कॉलोनियों में बिजली, पानी, सड़क जैसी समस्या है जब इन कॉलोनियों में काम नहीं होता है तब तक मुख्यमंत्री की घोषणा कारगर साबित नहीं होगी। कई काॅलोनियों में रहने वाले लोगों के लिए बिजली, सड़क, पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं की ओर ध्यान नहीं दिया जाता है, लेकिन वहां रहने वाले लोगों से नपा करों की पूरी वसूली करती है। इन काॅलोनी में रहने वाले लोगों का कहना है कि जब नपा द्वारा रहवासी क्षेत्र में सुविधाओं का विस्तार नहीं किया जा रहा है, तो कर वसूली भी नहीं की जानी चाहिए। नगर में कुछ कॉलोनाइजरों द्वारा शहर के बाहर खेती की जमीन पर काॅलोनी बनाई जा रही है, लेकिन नपा के पास इनका कोई रिकॉर्ड नहीं है। जबकि नपा द्वारा जब काॅलोनी विकसित की जाती है, तो इसके लिए विकास शुल्क वसूलना चाहिए, लेकिन नपा इसके लिए कोई कदम नहीं उठा रही।

- प्रदीप शास्त्री, सीएमओ शुजालपुर का कहना है कि शासन द्वारा अवैध काॅलोनी को वैध करने की प्रक्रिया शासन स्तर से शुरू होगी, तो स्थानीय स्तर पर भी काम शुरू करा दिया जाएगा।

X
47 अवैध कॉलोनियों को वैध करने के लिए अब तक पहल शुरू नहीं
Astrology

Recommended

Click to listen..