Hindi News »Madhya Pradesh »Shujalpur» ग्राम मदाना में शतचंडी महायज्ञ की पूर्णाहुति के साथ हुआ भंडारा

ग्राम मदाना में शतचंडी महायज्ञ की पूर्णाहुति के साथ हुआ भंडारा

समीपस्थ ग्राम मदाना के प्राचीन व चमत्कारी शक्ति माता स्मारक स्थल पर पांच दिनों से हो रहे शतचंडी महायज्ञ में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 25, 2018, 07:55 AM IST

ग्राम मदाना में शतचंडी महायज्ञ की पूर्णाहुति के साथ हुआ भंडारा
समीपस्थ ग्राम मदाना के प्राचीन व चमत्कारी शक्ति माता स्मारक स्थल पर पांच दिनों से हो रहे शतचंडी महायज्ञ में मंगलवार को पूर्णाहुति के साथ भंडारे का आयोजन किया गया। आयोजन में गेहलोद मेवाड़ा राजपूत समाज के 450 गांव के लोग बड़ी संख्या में एकत्रित हुए। ज्ञात रहे 700 वर्ष पूर्व गेहलोद मेवाड़ा राजपूत समाज की 750 छतरानियों ने मदाना के काकड़ पर जौहर किया था। साथ ही 6000 लोग शहीद हुए थे। गेहलोत मेवाड़ा राजपूत समाज सती माता का मदाना काकड़ स्थित स्मारक का निर्माण करवाया गया। उसी निर्माण स्थल पर पहले तर्पण का कार्यक्रम आयोजित किया गया, इसके बाद शतचंडी महायज्ञ शुरू किया गया था।

पूर्णाहुति में भोपाल, सीहोर, आष्टा क्षेत्र सहित राजगढ़, शाजापुर, शुजालपुर, कालापीपल क्षेत्र के सामाजिक लोग बड़ी संख्या में एकत्रित हुए। माता सती के दर्शन लाभ प्राप्त किया। इस अवसर पर गेहलोत मेवाड़ा राजपूत समाज के केंद्रीय अध्यक्ष केदारसिंह मंडलोई, क्षेत्रीय हरिसिह मंडलोई, केंद्रीय उपाध्यक्ष नाहरसिंह बाघेला, हेमराजसिंह सिसौदिया, केंद्रीय कोषाध्यक्ष प्रभुसिंह राजपूत, हरिसिंह, धर्मेंद्रसिंह वाघेला, भगवानसिंह भोपाल, नगर पंचायत अध्यक्ष दौलतसिंह, सरपंच प्रेम पठारिया, जनपद सदस्य हेमराज सिसौदिया, पूर्व विधायक फूलसिंह मेवाड़ा, जसवंतसिंह मेवाड़ा, ज्ञानसिंह मेवाड़ा, भगवंतसिंह मंडलोई, मोतीसिंह मेवाड़ा, प्रकाश मेवाड़ा, विक्रमसिंह सिसौदिया, राजेंद्रसिंह राजपूत, रामसिंह सिसौदिया, लखन मेवाड़ा, नरेंद्रसिंह राजपूत सहित ग्रामीण क्षेत्र से आए करीब 20 से 25 हजार महिला-पुरुष एकत्रित हुए। शतचंडी महायज्ञ की पूर्णाहुति के बाद सती माता स्थल पर होने वाली महाआरती का आयोजन में भाग लिया लेकर भोजन प्रसादी ग्रहण की।

पूर्णाहुति के बाद निकाली कलश यात्रा में शामिल हुए समाजजन।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shujalpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×