--Advertisement--

पंचकुइया हनुमान घाट मंदिर पर जलेगी मुख्य होली

गुरुवार को नगर में 100 से अधिक स्थानों पर शाम साढ़े छह से साढ़े आठ बजे के बीच होलिका का दहन होगा। इसके बाद शुक्रवार को...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 05:30 AM IST
गुरुवार को नगर में 100 से अधिक स्थानों पर शाम साढ़े छह से साढ़े आठ बजे के बीच होलिका का दहन होगा। इसके बाद शुक्रवार को होली खेली जाएगी। शांति समिति की बैठक में सुरक्षा के साथ ही तमाम विषयों पर चर्चा हुई।

पंचकुईया स्थित हनुमान घाट मंदिर की होली मुख्य होली कहलाती है। यहां होलिका दहन के उपरांत इसी होली की अग्नि से नगर के सभी मंदिरों तथा अन्य इलाकों में होलिका दहन होता है। इस बार गुरुवार शाम को साढ़े छह बजे पंचकुइया पर होलिका दहन होगा। इसके बाद नगर के अन्य इलाकों में होलिका दहन किया जाएगा। इसके बाद शुक्रवार को धुलेंडी उत्सव मनाया जाएगा। उत्सव के दौरान होने वाली व्यवस्थाओं को लेकर बुधवार दोपहर में थाना परिसर में शांति समिति की बैठक हुई। बैठक में भाजपा नेता रमेश यादव तथा हिन्दू उत्सव समिति ने पर्व से जुड़ी परंपराओं से प्रशासन को अवगत कराया। जुमे का दिन होने की वजह से प्रशासन द्वारा विशेष एहतियात बरतने की बात इस दौरान कही। धुलेंडी के अगले दिन दूज की शाम को नगर में कलगी-तुर्रा पर्व मनाया जाता है।

रंगपंचमी पर निकलेगा जुलूस

नगर में हिन्दू उत्सव समिति द्वारा रंगपंचमी के दिन जुलूस निकाला जाता है। इस बार रंगपंचमी 6 फरवरी को मनाई जाएगी। हिन्दू समिति अध्यक्ष ओम सोनी ने बताया कि रंगपंचमी के दिन सुबह कष्टम पथ से यह जुलूस शुरू होगा। उन्होंने जुलूस के लिए की जाने वाले व्यवस्थाओं की जानकारी भी प्रशासन को दी।