• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Sironj
  • शिक्षा सत्र शुरू होते ही निजी स्कूल मोटी फीस के साथ किताबों और यूनिफार्म में भी कर रहे वसूली
--Advertisement--

शिक्षा सत्र शुरू होते ही निजी स्कूल मोटी फीस के साथ किताबों और यूनिफार्म में भी कर रहे वसूली

नया शिक्षा सत्र शुरू होते ही एक बार फिर नगर में प्राइवेट स्कूलों की मनमानी शुरू हो गई है। इन स्कूलों में पढ़ने वाले...

Dainik Bhaskar

Jun 30, 2018, 04:00 AM IST
शिक्षा सत्र शुरू होते ही निजी स्कूल मोटी फीस के साथ किताबों और यूनिफार्म में भी कर रहे वसूली
नया शिक्षा सत्र शुरू होते ही एक बार फिर नगर में प्राइवेट स्कूलों की मनमानी शुरू हो गई है। इन स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावकों को मोटी फीस के साथ ही बुक और यूनिफार्म के लिए भी भारी-भरकम राशि चुकाना पड़ रही है। स्कूल संचालकों ने स्टेशनरी और कपड़ा विक्रेताओं से अनुबंध कर यह वसूली कर रहे हैं।

स्कूल संचालकों द्वारा मोटी फीस अभिभावकों से वसूली जा रही है। स्कूल संचालक एडमिशन शुल्क के नाम पर 4 से 5 हजार रुपए के साथ ही नर्सरी और केजी वन और केजी टू जैसी कक्षाओं की सालाना फीस 12 से 15 हजार रुपए तक वसूल रहे हैं। वे जिन सुविधाओं का हवाला देकर ये वसूली कर रहे हैं उन सुविधाओं का स्कूलों से कोई लेना-देना ही नहीं होता।

लगभग सभी स्कूल बच्चों की सुरक्षा का हवाला दे रहे हैं लेकिन बच्चों को लाने ले जाने के लिए उनके द्वारा चलाए जाने वाले कई वाहन ही असुरक्षित दिखाई देते हैं। जबकि वाहन शुल्क के नाम पर वे अभिभावकों से 400 से 500 रुपए प्रतिमाह लेते हैं।

कई स्कूलों में चलती है 3 से 4 तरह की यूनिफार्म

यूनिफार्म के मामले में भी स्कूल संचालक मनमानी कर रहे हैं। सीबीएसई स्कूलों ने अपनी संस्था में अलग-अलग हाउस बना रखे हैं। इन हाउस के आधार पर ही वे तीन से चार तरह की यूनिफार्म अपने स्कूल में चला रहे हैं। इन यूनिफार्म के लिए भी स्कूलों ने कपड़ा विक्रेताओं से संपर्क किया जाता है। अभिभावकों को निर्धारित स्थान से ही महंगी दर पर यूनिफार्म खरीदना पड़ती है। इसमें भी सर्दियों की यूनिफार्म का खर्च अलग से है।

X
शिक्षा सत्र शुरू होते ही निजी स्कूल मोटी फीस के साथ किताबों और यूनिफार्म में भी कर रहे वसूली
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..