• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Sironj
  • सरकारी में नवजात को नहीं मिल सका इलाज, परिजन प्राइवेट अस्पताल ले गए
--Advertisement--

सरकारी में नवजात को नहीं मिल सका इलाज, परिजन प्राइवेट अस्पताल ले गए

राजीव गांधी स्मृति चिकित्सालय में नवजात को इलाज नहीं मिलने से परेशान परिजनों को सोमवार को निजी अस्पताल का सहारा...

Dainik Bhaskar

Jul 10, 2018, 05:20 AM IST
सरकारी में नवजात को नहीं मिल सका इलाज, परिजन प्राइवेट अस्पताल ले गए
राजीव गांधी स्मृति चिकित्सालय में नवजात को इलाज नहीं मिलने से परेशान परिजनों को सोमवार को निजी अस्पताल का सहारा लेना पड़ा। नगर में रहने वाले गणेशराम विश्वकर्मा की बहू भूरीबाई का प्रसव रविवार सुबह हुआ था। भूरीबाई को पुत्र हुआ था। सोमवार सुबह इस नवजात का शरीर झटके लेने लगा तो परिजनों को चिंता हुई। उन्होंने मौजूद नर्स से नवजात को देखने को कहा तो नर्स ने उन्हें डाक्टर के पास जाने की सलाह दे दी। वे जनरल वार्ड में पहुंचे और वहां पर डॉक्टर विवेक अग्रवाल को बच्चे की स्थिति से अवगत कराया गया। श्री अग्रवाल का कहना था कि में बच्चों का डॉक्टर नहीं हूं। इस कारण कुछ नहीं कर सकता। परिजनों ने उनसे कहा कि एक बार बच्चे को देखिए तो सही लेकिन उन्होंने स्पष्ट इंकार कर दिया। इसी दौरान उन्हें वार्ड में डॉक्टर विनिता अग्रवाल भी मिली। उन्होंने भी नवजात को बच्चे को दिखाने की बात कह कर उन्हें लौटा दिया। अस्पताल में नवजात को इलाज नहीं मिलने पर गणेशराम ने निजी चिकित्सालय का सहारा लेना ही उचित समझा। वे चार पहिया वाहन से नवजात और बहू को लिंक रोड पर स्थित निजी अस्पताल ले गए। जहां से उसे भोपाल रेफर कर दिया गया। भोपाल में भी नवजात को निजी अस्पताल का ही सहारा लेना पड़ा। यहां पर उसे आईसीयू में रखा गया है।

X
सरकारी में नवजात को नहीं मिल सका इलाज, परिजन प्राइवेट अस्पताल ले गए
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..