--Advertisement--

स्कूल प्रबंधन बिना रसीद दिए 1400 से 2000 तक वसूल रहा फीस

दीपनाखेड़ा हायर सेकंडरी स्कूल में एडमिशन करवाने आने वाले छात्र-छात्राओं के अभिभावकों को भारी-भरकम फीस चुकाना पड़...

Danik Bhaskar | Jul 06, 2018, 05:35 AM IST
दीपनाखेड़ा हायर सेकंडरी स्कूल में एडमिशन करवाने आने वाले छात्र-छात्राओं के अभिभावकों को भारी-भरकम फीस चुकाना पड़ रही है। स्कूल प्रबंधन अभिभावकों से बिना रसीद दिए 1400 से लेकर 2000 रुपए तक फीस वसूल रहा है।

दीपनाखेड़ा हायर सेकंडरी स्कूल में अपने बच्चों का एडमिशन करवाना अभिभावकों के लिए महंगा सौदा साबित हो रहा है। स्कूल प्रबंधन द्वारा कक्षा 9वीं से 12वीं तक सभी कक्षाओं में प्रवेश के लिए छात्र-छात्राओं और उनके अभिभावकों से भारी फीस वसूली जा रही है। कक्षा 9वीं में अपनी बेटी का एडमिशन करवाने पहुंचे लाखनसिंह अहिरवार ने बताया कि सरकार कह रही है कि स्कूलों में निशुल्क पढ़ाई करवाई जाएगी लेकिन दीपनाखेड़ा स्कूल में तो मेरी बेटी के एडमिशन के लिए 1400 रुपए मांगे जा रहे हैं। जब मैंने सरकार की घोषणा का हवाला दिया तो वहां मौजूद स्टाफ का कहना था कि सरकार का काम तो घोषणा करना ही है। स्कूल तो हमें चलाना पड़ता है यहां पर पढ़ने के लिए फीस तो देना होगी। कक्षा 11वीं में अपनी बेटी का एडमिशन करवाने आए चम्पालाल पंथी ने बताया कि मुझे बेटी के एडमिशन के लिए स्कूल को 2 हजार रुपए देना पड़े। जब रसीद मांगी तो स्टाफ का कहना था कि सरकारी स्कूलों में रसीद नहीं मिलती। एडमिशन करवाना हो तो करवाएं नहीं तो दूसरे स्कूल में चले जाओ। अपने बच्चों का एडमिशन करवाने स्कूल में पहुंचे राजाराम मालवीय ओैर श्यामलाल प्रजापति की भी यही पीड़ा थी।