• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Sironj
  • किसानों पर फसल वापसी का संकट, पोर्टल पर उपज अंकित न होने से तौल पर्ची नहीं मिल रही
विज्ञापन

किसानों पर फसल वापसी का संकट, पोर्टल पर उपज अंकित न होने से तौल पर्ची नहीं मिल रही / किसानों पर फसल वापसी का संकट, पोर्टल पर उपज अंकित न होने से तौल पर्ची नहीं मिल रही

Bhaskar News Network

Jun 27, 2018, 05:40 AM IST

Sironj News - समर्थन मूल्य पर उपज विक्रय करने वाले 100 से अधिक किसानों को उनकी फसल वापसी का संकट झेलना पड़ सकता है। सोसायटी...

किसानों पर फसल वापसी का संकट, पोर्टल पर उपज अंकित न होने से तौल पर्ची नहीं मिल रही
  • comment
समर्थन मूल्य पर उपज विक्रय करने वाले 100 से अधिक किसानों को उनकी फसल वापसी का संकट झेलना पड़ सकता है। सोसायटी प्रबंधकों ने इन किसानों को अपनी उपज वापस ले जाने की चेतावनी दी है। परेशान किसान यहां-वहां भटक रहे हैं। इसका कारण उन्हें उपज विक्रय की पर्ची नहीं मिल पाना है।

समर्थन मूल्य पर खरीदी की प्रक्रिया खत्म होने के बाद किसानों को उम्मीद थी कि धीरे-धीरे सब कुछ सामान्य हो जाएगा और जल्दी ही उन्हें उपज का भुगतान भी मिलने लगेगा लेकिन ऐसा नहीं हो सका। इस बीच 100 से अधिक किसानों के सामने नया संकट आ गया है। सोसायटी केन्द्र पर उपज विक्रय करने के महीने भर बाद भी इन किसानों को विक्रय की पर्ची नहीं मिल सकी है। लगभग हर दिन ये किसान अपनी उपज की जानकारी लेेने के लिए सोसायटी केन्द्र पर पहुंच रहे हैं लेकिन उन्हें संतुष्टिदायक जवाब नहीं मिल रहा है।

करैयाहाट सोसायटी के परेशान किसानों ने मंगलवार को अपनी परेशानी से एसडीएम बृजेश शर्मा को अवगत कराया। किसान निखत खां, शौकत खां, रामचरण तथा भागचंद ने बताया कि हमने मई में अपनी उपज विक्रय कर सोसायटी केंद्र पर तुलवाई थी। जिसकी पर्ची अभी तक हमें नहीं मिली है। प्रबंधक के पास जाते हैं तो वे बताते है कि वेबसाइट बंद हो गई है। इस कारण हमें हमारी फसल का भुगतान भी नहीं हो सकता। वे हमसे उपज वापस ले जाने की बात भी कह रहे हैं। किसानों का कहना था कि इसी तरह की परेशानी का सामना क्षेत्र के अनेक किसानों को उठाना पड़ रहा है। जबकि हमने एसएमएस प्राप्त होने के बाद समय पर अपनी उपज तुलवाई थी। कम्प्यूटर ऑपरेटरों की गलती के कारण हमारी उपज की एंट्री नहीं हो सकी। उसकी गलती का खामियाजा हम क्यों भुगते। दैनिक भास्कर ने इस सोसायटी के प्रबंधन बृजेश नामदेव से जानकारी ली तो उन्होंने बताया कि पोर्टल बंद होने की वजह से 40 से अधिक किसानों की पर्ची नहीं निकल सकी थी।

X
किसानों पर फसल वापसी का संकट, पोर्टल पर उपज अंकित न होने से तौल पर्ची नहीं मिल रही
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन