--Advertisement--

शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने पर एक साल की सुनाई सजा

व्यवहार न्यायाधीश वर्ग 1 रुपेश नायक द्वारा शासकीय कार्य में बाधा पहुंचा कर मारपीट करने वाले पूरन बंजारा अमर सिंह...

Danik Bhaskar | Jul 14, 2018, 05:40 AM IST
व्यवहार न्यायाधीश वर्ग 1 रुपेश नायक द्वारा शासकीय कार्य में बाधा पहुंचा कर मारपीट करने वाले पूरन बंजारा अमर सिंह बंजारा एवं दौला बाई बंजारा को एक-एक साल के कारावास की सजा से दंडित करते हुए 1500 रुपए अर्थ दंड किया है। शासकीय लोग अभियोजन मनीष वर्मा से प्राप्त जानकारी के अनुसार घटना थाना मुगलसराय की है।

22 अक्टूबर 2011 को थाना मुग़लसराय का पुलिसकर्मी प्रमोद शर्मा गांव में वारंट तामील कराने के लिए गया था जहां पर उक्त आरोपीगणों ने उक्त पुलिसकर्मी के साथ सामूहिक रुप से इकट्ठा होकर उसके साथ मारपीट की और गंदी गंदी गालियां दी। इस कारण पुलिस कमी शासकीय कार्य नहीं कर पाया और रात को उसी गांव में आरोपीगण की वजह से छुपा रहा। सुबह जाकर रिपोर्ट दर्ज कराई। फरियादी प्रमोद शर्मा पुलिसकर्मी की रिपोर्ट पर थाना मुग़लसराय द्वारा अपराध क्रमांक 84 वर्ष 2011 धारा 353 186 294 323 एवं भादंवि की धारा 34 के अंतर्गत अपराध पंजीबद्ध कर अभियोग पत्र सर्वोच्च न्यायालय में पेश किया गया। 7 साल गवाही होने के बाद आरोपियों पर उक्त अपराध प्रमाणित हुआ और उनको पुलिसकर्मी के साथ मारपीट करने के अपराध में एवं शासकीय कार्य में बाधा उत्पन्न करने व गाली गलौज करने के संबंध में एक-एक वर्ष की प्रत्येक को सजा हुई। साथ ही 1500 रुपए का जुर्माना हुआ। शासन की ओर से पैरवी शासकीय लोक अभियोजन के अधिकारी मनीष वर्मा द्वारा की गई थी।