--Advertisement--

जिले के अन्य खरीदी केंद्रों की पड़ताल की तो और

जिले के अन्य खरीदी केंद्रों की पड़ताल की तो और भी बदतर हालात देखने को मिले। सिरोंज में बने दो खरीदी केंद्रों पर करीब...

Dainik Bhaskar

May 18, 2018, 06:35 AM IST
जिले के अन्य खरीदी केंद्रों की पड़ताल की तो और
जिले के अन्य खरीदी केंद्रों की पड़ताल की तो और भी बदतर हालात देखने को मिले। सिरोंज में बने दो खरीदी केंद्रों पर करीब 40 हजार क्विंटल उपज परिवहन के अभाव में खुले में पड़ी हुई है। एलबीएस कॉलेज के खरीदी केंद्र पर तो करीब 30 हजार क्विंटल उपज खुले मैदान में पड़ी होने से जगह की कमी से गुरुवार को तुलाई ही बंद रही। दीपनाखेड़ा के किसान रवि रघुवंशी ने बताया कि 16 तारीख की तौल का मैसेज मिला था। 15 मई से केंद्र पर हैं लेकिन 17 मई तक तुलाई नहीं हो सकी। यही स्थिति बासौदा में बनाए गए खरीदी केंद्रों की है। दरअसल जिले में 47 केंद्रों पर चना और मसूर की खरीदी हो रही है। जबकि खरीदी एजेंसी के सर्वेयर महज 17 हैं। उपज की खरीदी से लेकर परिवहन व भंडारण तक की पूरी जिम्मेदारी सर्वेयरों पर है।

X
जिले के अन्य खरीदी केंद्रों की पड़ताल की तो और
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..