• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Sironj
  • बच्चों से बिना रसीद दिए ज्यादा फीस वसूलने की शिकायत सही मिली
--Advertisement--

बच्चों से बिना रसीद दिए ज्यादा फीस वसूलने की शिकायत सही मिली

दीपनाखेड़ा हायर सेकंडरी स्कूल में बच्चों से भारी.भरकम एडमिशन शुल्क वसूलने की शिकायत की जांच करने के लिए बुधवार को...

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2018, 08:05 AM IST
बच्चों से बिना रसीद दिए ज्यादा फीस वसूलने की शिकायत सही मिली
दीपनाखेड़ा हायर सेकंडरी स्कूल में बच्चों से भारी.भरकम एडमिशन शुल्क वसूलने की शिकायत की जांच करने के लिए बुधवार को बीईओ मौके पर पहुंचे। जांच में शाला प्रभारी द्वारा बिना रसीद के ज्यादा फीस वसूलने की शिकायत सही मिली है। प्रभारी शिक्षिका ने स्कूल का रिकार्ड भी घर पर रखा है। बीईओ द्वारा शिक्षिका से यह रिकार्ड मंगाया गया है।

दीपनाखेड़ा हासे स्कूल में इस सत्र में एडमिशन लेने वाले बच्चों को स्कूल में 1400 से 2 हजार रुपए तक की फीस देना पड़ रही है। अभिभावकों द्वारा विरोध जताने पर प्रबंधन उन्हें अन्य स्कूल में जाकर एडमिशन लेने की बात कह कर लौटा देता है। अभिभावकों की इस समस्या को दैनिक भास्कर ने 6 जुलाई के अंक में प्रमुखता से प्रकाशित किया था। इसके बाद हरकत में आए शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने मामले की जांच की कार्रवाई शुरू कर दी थी। बुधवार को बीईओ ओपी विश्वकर्मा खुद मामले की जांच के लिए दीपनाखेड़ा हासे स्कूल में पहुंचे। उन्होंने जब बच्चों के अभिभावकों से चर्चा की तो सभी ने बिना रसीद के 1400 से 2 हजार रुपए तक की फीस लेने की शिकायत की। लाखनसिंह अहिरवार ने तो इस संबंध में लिखित में शिकायती पत्र भी बीईओ को दिया। ग्रामीणों ने बताया कि प्रबंधन तीन साल से बिना रसीद के ही यह वसूली अभिभावकों से कर रहा है। बीईओ ने प्रभारी शिक्षिका सोनाली सोनी से जानकारी ली तो उनका कहना था कि पूर्व में रसीद कट्टा नहीं होने की वजह से अभिभावकों को रसीद नहीं देने की बात स्वीकारी और अब रसीद देने की बात भी कही।

नाराज बीईओ ने शिक्षिका से तीन स्कूल का तीन साल का रिकार्ड मांगा तो शिक्षिका का कहना था कि स्कूल का रिकार्ड मेरे घर पर रखा हुआ है। यह जवाब सुनकर वे खुद हैरत में पड़ गए। बीईओ ओपी विश्वकर्मा ने बताया कि दीपनाखेड़ा हासे स्कूल में बिना रसीद दिए ज्यादा फीस वसूलने की शिकायत सही है। प्रभारी प्राचार्य ने स्कूल का रिकार्ड भी घर पर रख रखा है।

हमने तीन दिन के भीतर रिकार्ड उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए है। इस संबंध में वरिष्ठ कार्यालय को भी अवगत करा रहे हैं।

X
बच्चों से बिना रसीद दिए ज्यादा फीस वसूलने की शिकायत सही मिली
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..