Hindi News »Madhya Pradesh »Sonkutch» सुप्रीम कोर्ट के सम्मान में आज व्यापारी बंद नहीं रखेंगे

सुप्रीम कोर्ट के सम्मान में आज व्यापारी बंद नहीं रखेंगे

भास्कर संवाददाता |. सोनकच्छ सुप्रीम कोर्ट द्वारा विगत दिनों एससी एसटी एक्ट में बदलाव किया था, जिसे लेकर उक्त...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 04:50 AM IST

सुप्रीम कोर्ट के सम्मान में आज व्यापारी बंद नहीं रखेंगे
भास्कर संवाददाता |. सोनकच्छ

सुप्रीम कोर्ट द्वारा विगत दिनों एससी एसटी एक्ट में बदलाव किया था, जिसे लेकर उक्त सामाजिक संगठनों ने 2 अप्रैल को भारत बंद बुलाया है। जिसे लेकर सोनकच्छ आरक्षण सुधार समिति व व्यापारी संघ ने एक बैठक मंडी व्यापारी धर्मशाला में आयोजित की। जिसमें निर्णय लिया गया कि, हम अनुसूचित जाति व जनजाति के समाजजनों का सम्मान करते हैं, उनका विरोध नहीं करते हैं, लेकिन जो आरक्षण सक्षम लोगों को भी मिल रहा है, हम उसके विरोध में हैं तथा आरक्षण में सुधार की मांग करते हैं। साथ ही सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए फैसले का सम्मान करते हैं, इसलिए व्यापारी अपना व्यापार खुला रखेंगे। इन प्रमुख बातों को लेकर धर्मशाला से थाने तक एक रैली निकाली गई।

सोनकच्छ में आरक्षण सुधार समिति व व्यापारी संघ ने रैली निकालकर दिया ज्ञापन

सोनकच्छ. प्रमुख मार्गों से निकली रैली में शामिल व्यापारी।

टीआई को आवेदन देकर की सुरक्षा देने की मांग

रैली में समिति व संघ के लोगों ने सुप्रीम कोर्ट के सम्मान में आ गए हम मैदान में, अभी तो ये अंगड़ाई है आगे ओर लड़ाई है, संगठन में शक्ति है, आरक्षण मुर्दाबाद आदि नारे लगाए जा रहे थे। रैली थाने पहुंची व आमजन ने सुरक्षा को लेकर आवेदन दिया। यहां टीआई राजेंद्र कुमार चतुर्वेदी से लोगों ने कहा कि, हम भारत बंद का विरोध करते हैं, साथ ही हम दुकानें खोलेंगे। आप व्यापारियों को सुरक्षा प्रदान करें। चतुर्वेदी ने आश्वस्त किया है कि, कोई निवेदन करता है तो आपकी इच्छा है कि आप उसका सहयोग करें या ना करें। लेकिन किसी ने भी हिंसात्मक रास्ता अपनाया है तो जेल में डाल देंगे। उधर भारत बंद के समर्थन में निकाली जा रही रैली में आपत्तिजनक नारे लगाने के मामले में भी पुलिस को अवगत कराया गया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sonkutch

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×