--Advertisement--

सरस्वती शिशु मंदिर में दीक्षांत समारोह

तराना | शिशु मंदिर में दीक्षांत ले रहे विद्यार्थी, डॉक्टर, इंजीनियर जज वकील जरूर बने, लेकिन उससे पहले इंसान बनना ना...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 07:35 AM IST
तराना | शिशु मंदिर में दीक्षांत ले रहे विद्यार्थी, डॉक्टर, इंजीनियर जज वकील जरूर बने, लेकिन उससे पहले इंसान बनना ना भूलें। जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में चरित्र निर्माण को नहीं भूलंे। यह बात सरस्वती शिशु मंदिर में आयोजित कक्षा 10वीं के छात्र-छात्रों के दीक्षांत एवं आचार्य सम्मान समारोह पर मुख्य अतिथि सरस्वती विद्या प्रतिष्ठान मालवा प्रांत उज्जैन विभाग समन्वयक हिम्मतसिंह जामलिया ने कही। विशेष अतिथि डॉक्टर टीसी जैन ने बच्चों को कहा जीवन में प्रत्येक क्षेत्र में अपना योजनाबद्ध तरीके से अपने जीवन की कठिन से कठिन चुनौतियों का सामना करें। शिक्षा समिति के संयोजक ललित सोमानी ने कहा जीवन में सकारात्मकता के साथ अपने लक्ष्य की ओर अग्रसर हो एवं अपने माता-पिता का हमेशा सम्मान करें। कक्षा 10वीं के छात्र-छात्रों के दीक्षांत समारोह के साथ आचार्य को सम्मान समारोह भी आयोजित किया। महेश सोमानी, ओमप्रकाश प्लॉट, मुकेश माहेश्वरी, सत्यनारायण मित्तल, प्राचार्य प्रतिभा पल सांवरिया, प्रधानाचार्य महेश परमार आदि उपस्थित थे।