--Advertisement--

थांदला : हवन और अनुष्ठान हुए, यज्ञ में डाली आहुति

थांदला | हनुमान जयंती पर नगर सहित अंचल के हनुमान मंदिरों में विशेष पूजा अर्चना की गई। इस दौरान हवन व अनुष्ठान भी...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 03:30 AM IST
थांदला | हनुमान जयंती पर नगर सहित अंचल के हनुमान मंदिरों में विशेष पूजा अर्चना की गई। इस दौरान हवन व अनुष्ठान भी संपन्न हुए। बावड़ी हनुमान मंदिर पर मारुती यज्ञ का आयोजन किया गया। महंत गोपालदासजी के मार्गदर्शन में हवन विधि संपन्न हुई। इसके अलावा समीपस्थ ग्राम खजुरी के खेड़ापति हनुमान मंदिर में हवनात्मक अनुष्ठान एवं भंडारे का आयोजन किया। हवन के यजमान के रूप में ग्राम के नाना भाई डामर सप|ीक उपस्थित थे। हवन विधि पं. किशोर आचार्य ने संपन्न कराई। ग्राम सुतरेटी के हनुमान मंदिर, नौगांवा आश्रम फलिया तप विद्यार्थी हनुमान मंदिर, नवापाड़ा, परवलिया, रूंडीपाड़ा, काकनवानी के हनुमान मंदिरों में भी पूजा अनुष्ठान संपन्न हुए। नगर से तीन किमी दूर पश्चिम में पहाड़ी पर स्थित स्वयं भू माता मंदिर परिसर में पांच दिवसीय मवेशी मेले का समापन हुआ। परंपरानुसार प्रदेश के निकटवर्ती गुजरात, राजस्थान से बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने आकर मंदिर पर मन्नत उतारी। मंदिर व्यवस्था समिति के अशोक अरोरा व चैनसिंह भगत ने बताया प्रात: आरती के पश्चात मंदिर आने वाले भक्तों को मीठी दलिया की प्रसादी वितरित की गई। मेले में इस वर्ष विगत वर्षों की तुलना में पूर्णिमा तक मवेशियों के आने का क्रम जारी था।

खवासा में बस स्टैंड पर स्थित प्राचीन संकट मोचन हनुमान मंदिर पर हनुमान जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया गया। मंदिर पर सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ रही। हनुमानजी की आरती कर हवन की तैयारी शुरू की। आयोजन संकट मोचन समिति के सहयोग से हुआ। मंदिर के पुजारी मोहनदास बैरागी ने बताया महायज्ञ के मुख्य आचार्य ओमप्रकाश दुबे के मार्गदर्शन में यजमान शंकरलाल कनीराम पाटीदार द्वारा सहायक आचार्य कैलाशचंद भट्ट, विजय व्यास, गट्टूलाल व्यास, परमानंद भट्ट, चेतन त्रिवेदी, विकास बैरागी द्वारा यज्ञ संपन्न कराया। यज्ञ की पूर्णाहुति के साथ महाआरती हुई पश्चात भंडारा हुआ।