--Advertisement--

दहेज प्रथा के नुकसान बताए, योजनाओं की दी जानकारी

शासकीय महाविद्यालय थांदला की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई का सात दिवसीय विशेष शिविर ग्राम मानपुर में लगाया गया।...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 05:50 AM IST
शासकीय महाविद्यालय थांदला की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई का सात दिवसीय विशेष शिविर ग्राम मानपुर में लगाया गया। ‘स्वास्थ्य एवं जन स्वच्छता तथा व्यक्तिगत स्वास्थ्य’ की थीम पर आधारित शिविर का समापन बुधवार को हुआ।

स्वयं सेवकों ने ग्राम में परियोजना कार्य के अंतर्गत शिविर स्थल से मोरिला पहाड़ तक पहुंच मार्ग सड़क मरम्मत कार्य, मंदिर परिसर की स्वच्छता, सोख्ता गड्ढा निर्माण तथा पल्स पोलियो अभियान में स्वयं सेवकों ने सहयोग प्रदान किया। बौद्धिक कार्यक्रम के अंतर्गत दहेज प्रथा, मद्य निषेध, मतदाता जागरूकता एवं शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी ग्रामीणों को घर-घर जाकर दी। समापन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि महाविद्यालयीन जनभागीदारी सदस्य संजय भाबर पहुंचे। उन्होंने सभी शिविरार्थियों को उनके छोटे भाई कमलकिशोर (शैलू) की जन्म तिथि के उपलक्ष्य में सभी को उपहार प्रदान किए। उन्होंने समाज के साथ-साथ धार्मिक कार्य भी करते रहने की आवश्यकता पर अपने विचार रखे। अध्यक्षता कर रहे महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. पीके संघवी ने कहा संस्कार से ही व्यक्तित्व का विकास होता है। विशेष अतिथि प्रशांत उपाध्याय, विपुल आचार्य, डॉ. जीसी मेहता एवं मानपुर के सरपंच बालू खड़िया थे। प्रो. बी. एल. डावर ने शिविर में हुए कार्यों की जानकारी दी।

शिविर के समापन पर अतिथियों ने स्वयं सेवकों को एक बनो नेक बनो द्वारा एकता की सीख दी। साथ ही व्यक्तिगत सामूहिक एवं पर्यावरण स्वच्छता, अनिवार्य मतदान पर प्रकाश डाला। संचालन डॉ. बीएल डावर ने किया। आभार छात्रसंघ अध्यक्ष प्रताप कटारा ने माना। आयोजन में प्रो. सेलिन मावी, प्रो. एसएस मुवेल, डॉ. एमएस वास्केल, प्रो. एच. डुडवे, दिनेश मोरिया, विजय देवल, दुर्गेश, राजेश, कांतू, कु. पलमा, उपासना, पूर्वा, दीपिका, अजय मोरी, विक्रम डामोर मौजूद थे।

समापन कार्यक्रम में अतिथियों के साथ मौजूद शिविरार्थियों ने ग्रुप फोटो खिंचवाया।