--Advertisement--

संसार को माता से ही मिली है जगत कल्याण की प्रेरणा

ठीकरी | भगवान से भी अधिक मां का महत्व है। मां ही सच्चा भगवान है। बेटी नवदुर्गा का प्रतीक है। यह बात सरस्वती शिशु...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 04:10 AM IST
ठीकरी | भगवान से भी अधिक मां का महत्व है। मां ही सच्चा भगवान है। बेटी नवदुर्गा का प्रतीक है। यह बात सरस्वती शिशु विद्या मंदिर ठीकरी में आयोजित मां बेटी सम्मेलन में मुख्य वक्ता ममता तोमर प्राचार्य आनंद नगर खंडवा ने कही। कार्यक्रम के विशेष अतिथि नरेंद्र चौहान धर्म जागरण संयोजक खरगोन विभाग। वंदना राठौड़ ठीकरी प्रदेश प्रतिनिधि महिला मंडल ने मातृ शक्ति को हल्दी कुमकुम कार्यक्रम का महत्व बताया। उपस्थित सभी मां बेटी को हल्दी कुमकुम लगाया। । वंदना राठौड़ ने बताया कि हिंदू धर्म के सभी त्यौहार महिलाओं के बगैर अधूरे हैं। मातृशक्ति ही सभी उत्सव व आनंद की सूत्रधार है। 11 फरवरी को बड़वानी में होने वाले हिंदू समरसता सम्मेलन में आसपास के सभी ग्रामों व अन्य प्रदेशों से हिंदू कार्यकर्ता आएंगे। इसके सभी समाजों को समरसता प्रदान करने के संबंध में चर्चा होगी। समाज में फैली भ्रांतियां दूर की जाएगी। इस दौरान लिमचंद राठौड़, लोकेश गुप्ता, रमेश राठौड़, तुलसीराम पाटीदार, मधु धनगर, मनोज राठौड़ सहित सैकड़ों मां बेटी उपस्थित रही।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..